कोलंबिया के राष्ट्रपति जुआन मैनुअल सांतोस ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा कि उनके देश में विद्रोहियों के साथ चल रही शांति वार्ता पूरी दुनिया के लिए आशा की एक किरण है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के अनुसार, सांतोस ने मंगलवार को कहा, “रिवोल्यूशनरी आर्म्ड फोर्सेज ऑफ कोलंबिया (एफएआरसी) के विद्रोहियों के साथ हमारी बातचीत हिंसा और आतंकवाद से जूझ रही दुनिया के लिए उम्मीद की रोशनी जगा रही है।” Also Read - इन देशों में घर खरीदने पर मिल जाती है नागरिकता और नया पासपोर्ट

उन्होंने कहा कि कोलंबिया सरकार और एफएआरसी विद्रोहियों के बीच 50 साल पुराने सशस्त्र संघर्ष को खत्म करने पर सहमति बन गई है। उन्होंने कहा, “इस पर 23 मार्च, 2016 को दस्तखत होंगे। मतलब छह महीने से भी कम समय में।” Also Read - all records of inflation broken in Venezuela, 1 liter milk costs 80 thousand | इस देश में महंगाई ने तोड़े सभी रिकॉर्ड, 1 लीटर दूध 80 हजार, 1 किलो मीट 3 लाख का

सांतोस ने कहा कि शांति समझौता कोकीन बनाने वाले कोका पौधों के खात्मे की भी राह खोल देगा। विद्रोही इस अवैध फसल को संरक्षित करने के बजाए नष्ट करने में मदद देंगे। Also Read - Farmer Found 4000 Crores While Digging Land in Columbia | किसान को खुदाई के दौरान मिले 4 हजार करोड़ रुपए

सांतोस ने कोलंबिया में शांति प्रक्रिया का समर्थन करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को धन्यवाद दिया।

बीते 50 सालों में कोलंबिया में गृहयुद्ध में करीब 2,20,000 लोग मारे और 60 लाख से अधिक लोग विस्थापित हो चुके हैं।