Corona Vaccine Latest News: दुनिया भर में कोरोनावारस (Coronavirus) से कोहराम मचा हुआ है. अब तक पूरी दुनिया में कोरोना से करीब 1 करोड़ 25 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. हर देश को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार है और लगभग हर बड़ा देश इस तरफ अपनी पूरी ताकत से वैक्सीन बनाने में लगा हुआ है. इस बीच रूस से कोरोना वैक्सनी को लेकर एक बड़ी खबर आई है. रूस ने दावा किया है कि उसने कोरोना की वैक्सीन बना ली है और इस वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल (Corona Vaccine Human Trial) भी पूरी तरह से सफल रहा है. अगर रूस में कोरोना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल सफल हुआ है तो वह पहला देश बन सकता है जिसने कोरोना वैक्सीन बनाने में सफलता हासिल की है. Also Read - कोविड-19: दिल्ली की बसों में कागज का टिकट रद्द, अब मोबाइल के जरिए होगी ई-टिकटिंग

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव (Vadim Tarasov) ने बताया कि कुछ दिनों पहले वैक्सीन के लिए मनुष्यों पर परीक्षण के लिए कुछ वॉलेंटियर्स को चुना गया था और अब उन लोगों के पहले बैच को बुधवार को जबकि दूसरे बैच को 20 जुलाई को छुट्टी दे दी जाएगी. अगर सब कुछ सही रहा तो हो सकता है कि अब दुनिया को जल्द ही कोरोना को रोकने वाली वैक्सीन मिल जाए. Also Read - भारत में कोरोना की टेस्टिंग 2 करोड़ के पार, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में रिकवर लोगों की संख्या एक्टिव केसों से दोगुनी

तरासोव के अनुसार, विश्वविद्यालय ने 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके का परीक्षण शुरू किया था. विश्वविद्यालय ने पहली वैक्सीन के वॉलेंटियर्स पर सफलतापूर्वक परीक्षण को पूरा कर लिया है. उन्होंने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता मानव जीवन की सुरक्षा थी और हम किसी भी तरह का रिस्क नहीं ले सकते थे इसलिए हमने ह्यूमन ट्रायल से पहले इसका जानवरों पर भी परीक्षण किया.

आपको बता दें कि रूस कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले देशों की लिस्ट में चौथे नंबर पर है. अगर रूस का दावा सही हुआ तो यह पूरी दुनिया के लिए बहुत बड़ी कामयाबी है. विश्व के कई ताकत वर देश कोरोना वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं लेकिन अभी तक किसी भी देश को ह्यूमन ट्रायल पर पूरी तरह से सफलता नहीं मिली है.