Corona Vaccine: पाकिस्तान की योजना निकट भविष्य में टीकों को खरीदने की नहीं है क्योंकि उसका उद्देश्य सामूहिक रोग प्रतिरोधक क्षमता (हर्ड इम्युनिटी) और चीन जैसे मित्र देशों से दान किये गये टीकों के जरिये कोविड-19 की चुनौती से निपटने का है. पाकिस्तान ने अभी तक चार टीकों, सिनोफ्राम (चीन), ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका (ब्रिटेन), स्पूतनिक-वी (रूस) और कैनसिनो बायो (चीन) का पंजीकरण किया है. Also Read - Haj Yatra 2021: हज यात्रा को लेकर बड़ी खबर, टीका नहींं तो यात्रा नहीं, जानिए क्या हुआ है फैसला

‘डॉन’ समाचार पत्र की एक खबर के अनुसार राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के सचिव आमिर अशरफ ख्वाजा ने बृहस्पतिवार को लोक लेखा समिति (पीएसी) को बताया कि पाकिस्तान सरकार की जल्द से जल्द टीके खरीदने की कोई योजना नहीं है और उसका उद्देश्य कोविड-19 से हर्ड इम्युनिटी और दान किए गए टीकों के जरिये ही निपटने का है. Also Read - पाकिस्तान में हालात बिगड़े, 3 बजे तक के लिए बंद किए गए सभी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म

राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के कार्यकारी निदेशक मेजर जनरल आमिर आमेर इकराम के अनुसार चीन के टीके कैनसिनो की एक खुराक की कीमत 13 अमेरिकी डॉलर है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय दाताओं और चीन जैसे मित्र देशों पर भरोसा कर रहा है. Also Read - यूपी: कोरोना संक्रमितों को भर्ती न करने पर हॉस्पिटल संचालकों पर होगी FIR, योगी सरकार का आदेश

एनएचएस के सचिव ने पीएसी को बताया कि दूसरे चरण में अस्पतालों और स्वास्थ्य केन्द्रों में काम करने वाले स्वास्थ्य अधिकारियों को शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि 65 वर्ष या इससे अधिक आयु के लोग भी टीकाकरण के लिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने इस साल सात करोड़ लोगों का टीकाकरण करने की योजना बनाई है.

पीएसी के अध्यक्ष राणा तनवीर हुसैन के एक सवाल के जवाब में, एनएचएस के सचिव ने कहा कि पाकिस्तान को मार्च के मध्य तक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाये गये एस्ट्राजेनेका टीके की पहली खेप मिलेगी और शेष के जून तक देश में आने की उम्मीद है. उनके अनुसार बुजुर्ग लोगों का टीकाकरण पांच मार्च तक शुरू होने वाला था, हालांकि खेप आने में देरी हुई.

उन्होंने कहा कि एक अन्य चीनी कंपनी ने पाकिस्तान में कैनसिनो टीके के तीसरे चरण का परीक्षण किया था. उन्होंने कहा कि इसमें कुल 18 हजार लोगों को टीका लगाया गया और टीके के प्रभावी होने की दर 85 प्रतिशत रही. पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 से 52 और लोगों की मौत हो गई जबकि मामलों की कुल संख्या बढ़कर 5,87,014 पर पहुंच गई. शुक्रवार को देश में इस महामारी से मृतकों की संख्या 13,128 हो गई.

राष्ट्रीय कमान एवं अभियान केन्द्र (एनसीओसी) के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 1,579 लोग संक्रमित पाये गये हैं.

(इनपुट भाषा)