नई दिल्ली: कोरोना महामारी का कहर एक बार फिर देश में बढ़ता जा रहा है. कई राज्यों में कोरोना फिर से अपने पैर पसार रहा है. इस कारण लोगों को कोरोना की वैक्सीन का बेसब्री से इंतेजार है. लोगों के कई तरह के सवाल हैं कि आखिर वैक्सीन बाजार में कब तक आएगी और लोगों के पास तक कब पहुंचेगी. ऐशे में रुसी की स्पुतनिक 5 (Sputnik V) वैक्सीन को लेकर बड़ी जानकारी सामने आई है. बताया गया है कि रूस में यह वैक्सीन सभी को मुफ्त में दिया जाएगा, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 10 डॉलर से भी कम होगी. यानी भारत में यह दवा लगभग 700 रुपये के करीब मिलेगी. किसी भी कोरोना संक्रमित मरीजो को ठीक होने के लिए इस वैक्सीन के 2 डोज की आवश्यकता होगी.Also Read - Monkeypox Disease: यौन संबंध बनाने से भी फैल सकता है 'मंकीपॉक्स' वायरस, विशेषज्ञों ने चेताया

रशियन डॉयरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड (RDIF) ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी. बता दें कि इस वैक्सीन को गैमेलिया नेशनल रिसर्च सेंटर फॉर एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉजी एंड माइक्रोबॉयोलॉजी और रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड ने मिलकर तैयार किया है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस वैक्सीन की डिलीवरी जनवरी 2021 से शुरू की जाएगी. वहीं यह वैक्सीन विदेशी निर्माताओं के साथ मौजूदा साझेदारी के आधार पर ग्राहकों को उपलब्ध कराया जाएगा. Also Read - युवा शिविर में बोले पीएम मोदी, भारत आज दुनिया की नई उम्मीद बनकर उभरा है

स्पुतनिक V के दूसरे क्लीनिकल ट्रायल के विश्लेषण के मुताबिक वैक्सीन के पहले डोज देने के 28 दिन बाद Sputnik v 91.4 फीसदी तक प्रभावी रही है. ऐसे में इस दवा का इस्तेमाल कोरोना के खिलाफ काफी कारगर हो सकता है. RDIF के सीईओ ने किरील दिमित्रिव ने कहा कि भारत, ब्राजील, यूएई, और बेलारूस में इस वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है. ये परिणाम विभिन्न देशों के लिए उपलब्ध होंगे और हम जनवरी तक वैक्सीन को उपलब्ध कराने को लेकर बातचीत कर रहे हैं. Also Read - दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के करीब 400 नए केस, दो लोगों की गई जान