COVID VACCINE UPDATES: दुनिया में जारी कोरोना संकट के बीच इसके वैक्सीन (COVID Vaccine) को लेकर तमाम तरह के शोध चल रहे हैं. इस बीच कोरोना के खिलाफ जंग में तब बड़ा झटका लगा जब अमेरिकी कंपनी एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) ने अपने कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के अंतिम चरण के ट्रायल को रोक दिया. फार्मास्यूटिकल कंपनी AstraZeneca ने वैक्सीन ट्रायल को मानव परीक्षण में शामिल एक वालंटियर के बीमार पड़ने के बाद रोकने का फैसला लिया. Also Read - India Covid-19 live Updates: देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 59 लाख के पार, 93 हजार से ज्यादा की जा चुकी है जान...

न्यूज एजेंसी AFP ने दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका के प्रवक्ता के हवाले से बताया, ‘यह एक रूटीन रूकावट है, क्योंकि परीक्षण में शामिल शख्स की बीमारी के बारे में अभी तक ज्यादा कुछ पता नहीं चला है. इंडिपेंडेंट कमेटी द्वारा इसकी समीक्षा की जाएगी और उसके बाद ही ट्रायल फिर से शुरू होगा. Also Read - India Covid Vaccine Update: ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन को लेकर आई एक अच्छी खबर, अब तीन लोगों पर...

बयान में आगे कहा गया कि यह एक रूटीन रुकावट. परीक्षण के दौरान जब भी ऐसा कुछ सामने आता है तो इसकी जांच की जाती है और जांच तक ट्रायल को रोका जाता है. इससे हम यह सुनिश्चित करते हैं कि हम परीक्षण की अखंडता बनाए रखें.’ मालूम हो कि ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) के साथ दवा विकसित करने वाली कंपनी एस्ट्राजेनेका कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) की वैश्विक दौड़ में सबसे आगे है.  बता दें कि इस वैक्सीन का नाम AZD1222 रखा गया है. WHO के मुताबिक, दुनिया के अन्य वैक्सीन ट्रायल के मुकाबले ये सबसे आगे चल रही थी. भारत समेत कई देशों की निगाहें ऑक्सफ़ोर्ड की इस वैक्सीन पर टिकी हुईं हैं. Also Read - India Covid-19 Updates: देश में कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 90 हजार के पार, 83 हजार से ज्यादा नए केस आए सामने

उधर, मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल से कोरोना की वैक्सीन का स्टेटस पूछा गया तो उन्होंने बताया किदेश मे तीन कंपनियों की Vaccine क्लीनिकल ट्रायल की स्टेज में हैं. उन्होंने बताया कि भारत बायोटेक की वैक्सीन का पहले फेज का ट्रायल पूरा हो चुका है. मंगलवार से फेज-2 के लिए एनरोलमेंट शुरू हो गई है. यह एक स्वदेशी वैक्सीन है. वहीं, Zydus कैडिला की वैक्सीन का पहला चरण खत्म हो चुका है और फेज 2 चल रहा है. उन्होंने बताया कि यह भी एक स्वदेशी वैक्सीन है.

नीति आयोग के सदस्य ने बताया कि तीसरा ट्रायल देश मे सीरम इंस्टिट्यूट की वैक्सीन का चल रहा है. ये ऑक्सफ़ोर्ड की मशहूर वैक्सीन है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी इसे AstraZeneca के साथ मिलकर बना रही है. भारत में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सीटी इसे सीरम इंस्टीट्यूट के साथ मिलकर बना रही है. इस वैक्सीन के फेज 3 ट्रायल यूके, अमेरिका, ब्राज़ील में चल रहे हैं. हिंदुस्तान में भी इस वैक्सीन का ट्रायल शुरू होने वाला है.

उधर, रूस ने गैमलेया नेशनल रिसर्च सेंटर ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी और रूसी डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (RDIF) द्वारा विकसित COVID-19 Vaccine Sputnik V का पहला बैच नागरिकों के लिए जारी कर दिया है. जल्द ही क्षेत्रीय आधार पर वैक्सीन की डिलिवरी की भी योजना है. रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से यह जानकारी दी गई है.

उधर, दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus news in hindi) का कहर बढ़ता ही जा रहा है. दुनिया भर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा तेजी से बढ़कर 2.7 करोड़ के पार पहुंच गया है वहीं, अब तक 8 लाख 92 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है.

(इनपुट: एजेंसी)