बीजिंग: चीन में कोरोना वायरस महामारी से अब तक 811 लोगों की मौत हो चुकी है. यह आंकड़ा वर्ष 2003 में फैली सीवियर अक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (सार्स) से हुई मौतों से अधिक है. सार्स की वजह से उस वक्त 774 लोगों की मौत हुई थी. चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के आंकड़ों के अनुसार, चीन में अब तक कोरोना वायरस की वजह से 811 लोगों की मौत हो चुकी है. इसमें फिलीपींस और हांगकांग में हुई एक-एक व्यक्ति की मौत को मिला दिया जाए तो यह आंकड़ा 813 होगा.

वर्ल्ड हेल्थ आर्गनाइजेशन के मुताबिक, वर्ष 2003 में सार्स बीमारी की वजह से 774 लोगों की मौत हुई थी. कोरोनावायरस से अब तक चीन में 37,198 लोग संक्रमित हैं. जबकि 2003 में सार्स के फैलाव के दौरान दुनियाभर में 8437 लोग संक्रमित हुए थे. सार्स का फैलाव भी चीन से ही हुआ था. यह दक्षिणी प्रांत गुआंझो से फैला था, जबकि कोरोना वायरस पूर्वी मध्य प्रांत हुबेई के वुहान में सीफुड मार्केट से फैला. इस बीमारी का प्रसार अब तक करीब 20 देशों में हो चुका है. हालांकि चीन में इसके संक्रमित लोगों की आबादी 99 फीसदी है. चीन में शनिवार को दो विदेशी नागरिकों की इस बीमारी से मौत हुई थी, जिसमें से एक अमेरिकी और दूसरा जापानी नागरिक था.

कोरोना वायरस से प्रभावित देशों में मरीजों की संख्या
कोरोना वायरस से प्रभावित अन्य देशों में जापान (86), सिंगापुर (33), थाईलैंड (32), हांगकांग (26), दक्षिण कोरिया (24), ताईवान (17), आस्ट्रेलिया (15), मलेशिया (15), जर्मनी (14), अमेरिका (12), वियतनाम (12), फ्रांस (11), मकाउ (10), कनाडा (7), यूएई (7), भारत (3), फिलीपींस (3), ब्रिटेन (3), इटली (3), रूस (2), कंबोडिया (1), फिनलैंड (1), नेपाल (1), श्रीलंका (1), स्पेन (1), बेल्जियम (1), स्वीडन (1) शामिल हैं. ये आंकड़े यूरोपियन सेंटर फार डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल से लिए गए हैं.