Lockdown in Britain: ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से हाहाकार मचा है और दहशत का माहौल है. कोरोना वयारस के नए स्ट्रेन के बढ़ते खतरे और अस्पतालों में मरीजों के बढ़ती संख्या के मद्देनजर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कैबिनेट की आपात बैठक के बाद देश में नए लॉकडाउन का ऐलान किया है. कोरोना के नए वेरिएंट के खतरे को देखते हुए लंदन और इंग्‍लैंड के दक्षिण-पूर्व में कठोर प्रतिबंधों को लगाया गया है. जॉनसन ने कैबिनेट बैठक के बाद कहा कि इंग्‍लैंड में कई हफ्ते पूर्व कोरोना के नए वेरिएंट के सबूत मिलने के बाद कठोर उपबंधों को ऐलान किया गया है, नए उपाय सोमवार से प्रभावी होंगे.Also Read - Covid-19 Study: इस ब्लड ग्रुप के लोगों को कोरोना के संक्रमण का अधिक खतरा, नई रिसर्च में हुआ खुलासा

बोरिस जॉनसन ने कहा कि हमने कोरोना के खिलाफ जंग में कम से कम फरवरी के मध्य तक नया स्टे-ऑन-होम लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है ताकि घातक कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को ज्यादा फैलने से रोका जा सके. Also Read - Covid 19 New Variant: दक्षिण अफ्रीका में सामने आया कोरोना वायरस का नया वेरिएंट, हो सकता है डेल्टा वेरिएंट से भी ज़्यादा खतरनाक | Watch Video

बोरिस जॉनसन ने कहा कि जब से यह महामारी आई है, पूरा देश पूरी तरह से कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के प्रयास में लगा हुआ है और इसमें कोई संदेह नहीं है कि पुराने वायरस के खिलाफ लड़ाई में हमारे सामूहिक प्रयास काम कर रहे हैं, हम इसे जारी रखेंगे. मगर अब हमारे सामने कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन है जो पिछले वायरस की तुलना में ज्यादा संक्रामक और खतरनाक है, जो तेजी से फैल रहा है. Also Read - Ashes 2021: इंग्लिश खिलाड़ियों के लिए ब्रिटिश PM ने ऑस्ट्रेलिया से की बात, बोले- परिवार को साथ लाने की दें इजाजत

जॉनसन ने कहा कि देश में एक बार फिर से लोगों को घर पर ही रहना होगा और लॉकडाउन का पालन करना होगा. इस समय नया वायरस काफी खतरनाक तरीके से फैल रहा है और हमारे अस्पताल कोरोना के नए वायरस की वजह से बहुत अधिक अंडर प्रेशर में हैं. उन्होंने बताया कि मंगलवार से स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी बंद रहेंगे और ये सभी ऑनलाइन ही चलेंगे. सिर्फ आवश्यक वस्तुओं के लिए ही लोग घरों से बाहर जा सकेंगे.

प्रधानमंत्री बोरिस ने सोमवार रात को देश को संबोधित करते हुए कहा कि जिस तरह नए संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, यह स्पष्ट हो गया है कि हमें और मेहनत करने की ज़रूरत है. इंग्लैंड में हमें एक राष्ट्रीय लॉकडाउन की जरूरत है क्योंकि कोरोना के नए स्ट्रेन के खिलाफ यह कठोर कदम पर्याप्त है. इसका मतलब है कि सरकार एक बार फिर से आपको घर में रहने के लिए निर्देश दे रही है.