इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की तादाद रविवार को बढ़कर 1571 हो गई. दूसरी ओर सरकार ने इस संक्रामक बीमारी को फैलने से रोकने के लिए अपने प्रयास तेज कर रही है और लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए देश भर में सेना की तैनाती की गई है. स्वास्थ्य मामलों पर प्रधानमंत्री के सलाहकार डॉ. जफर मिर्जा ने अपनी दैनिक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि सरकार द्वारा उठाए गए प्रभावी कदमों की वजह से पाकिस्तान में वायरस का प्रकोप काबू में है. Also Read - Corona New Varient: सर्दियों में कोरोना के नए वेरिएंट की हो सकती है एंट्री, ब्रिटेन में लग सकता है लॉकडाउन

उन्होंने हालांकि कहा कि पिछले 24 घंटों में 1,106 संदिग्ध मामले सामने आए हैं और ऐसे मामलों की संख्या बढ़कर 13,324 हो गई है. पाकिस्तान में रविवार को खैबर पख्तूनख्वा में कोरोना वायरस के चार, बलूचिस्तान में तीन और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चार मामलों की पुष्टि हुई. Also Read - COVID 19 Cases In India: 1 दिन में 53 हजार से अधिक लोग हुए कोरोना संक्रमित, 1,422 लोगों की हुई मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मुल्क में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित पंजाब है, जहां 571 मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद सिंध में 502, खैबर पख्तूनख्वा में 1192, बलूचिस्तान में 141, गिलगित-बल्तिस्तान में 116, इस्लामाबाद में 43 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में छह लोग इस घातक विषाणु की चपेट में आए हैं. Also Read - International Yoga Day 2021 Live: योगमय देश-दुनिया, ऐसे मनाया जा रहा 7वां योग डे

देश में अबतक कोरोना वायरस के संक्रमण से 14 लोगों की मौत हो चुकी है, 11 की हालत नाजुक है और 28 मरीज ठीक हो चुके हैं. पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बजदर ने ट्वीट कर बताया कि प्रांतीय सरकार ने कोरोना वायरस के और मरीज़ों की पहचान करने के लिए लोगों की जांच करने की गति को बढ़ा दिया है.उन्होंने बताया कि पंजाब में अबतक 13,380 लोगों की कोविड-19 की जांच की गई है.

इससे पहले दिन में चीन से राहत सामग्री लेकर पाकिस्तान वायुसेना का एक विमान इस्लामाबाद हवाई अड्डे पहुंचा. चीन से एक विशेष विमान आठ चिकित्सा विशेषज्ञों की एक टीम और राहत सामग्री लेकर शनिवार को यहां पहुंचा था. यह टीम कोरोना वायरस के प्रसार से निपटने में पाकिस्तान की मदद करने के लिए यहां आई है.

सरकार के स्वास्थ्य सलाहकार जफर मिर्ज़ा ने कहा कि पाकिस्तान में एक भी ऐसा शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाया गया जो हाल फिलहाल में चीन की यात्रा पर गया था. यह पाकिस्तानी और चीन की सरकारों के बीच समन्वय की वजह से हो पाया.

उन्होंने कहा कि आंतरिक दबाव के बावजूद पाकिस्तानी छात्रों को वुहान में रखना सही फैसला था. पाकिस्तान की हुकूमत ने कोरोना वायरस को देखते हुए ईरान और अफगानिस्तान के साथ लगती पश्चिम सीमा और भारत के साथ लगती पूर्वी सरहद को दो और हफ्तों के लिए बंद रखने का फैसला किया है.

राष्ट्रीय सुरक्षा पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक मुईद यूसुफ ने शनिवार को कहा कि देश में बढ़ते हुए कोविड-19 के मामलों के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि चार अप्रैल तक देश में सभी उड़ानें निलंबित रहेंगी. रविवार को, बैंकाक से फंसे हुए पाकिस्तानियों को लाई एक विशेष उड़ान को इस्लामाबाद में उतरने दिया गया. सभी यात्रियों को एक पृथक केंद्र में ले जाया गया.

उन्हें घर भेजने से पहले उनका परीक्षण किया जाएगा. इस बीच, प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक संदेश में ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और ब्रिटेन के राजकुमार चार्ल्स के जल्दी सेहतमंद होने की कामना की. जॉनसन और चार्ल्स कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.