टोक्यो: जापान के तट पर खड़े जहाज ‘डायमंड प्रिंसेज’ में 88 और लोगों की कोरोना वायरस (Corona Virus) की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी. मंत्रालय ने कहा कि जहाज में अबतक कुल 542 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है. वहीं, खबर ये भी है कि ब्रिटेन यह घोषणा करने वाला एक और देश बन गया कि कोरोना वायरस के चलते जापान में समुद्र तट के पास पृथक खड़े किए गये क्रूज जहाज पर फंसे अपने नागरिकों को वह निकालेगा. Also Read - डोनाल्ड ट्रंप ने दी सलाह- आराम से बैठें, सलीके से पेश आएं, हाथ धोएं और अमेरिका पर गर्व करें

ब्रिटेन ने मंगलवार को कहा कि वह डायमंड प्रिसेंज जहाज से अपने नागरिकों को विमान से लेकर आएगा. इस जहाज पर 450 से अधिक लोगों की सीओवीआईडी -19 (कोरोना) को लेकर की गई जांच के नतीजे पॉजिटिव पाये गये हैं. इससे पहले अमेरिका, कनाडा, आस्ट्रेलिया, हांगकांग और दक्षिण कोरिया ने कहा था कि वे इस जहाज से अपने नागरिकों को ले जायेंगे. सोमवार तक 300 से अधिक अमेरिकी इस जहाज से अपने देश पहुंच गये. Also Read - पहली बार सामने आई 'कोरोना' की तस्वीर, भारतीय वैज्ञानिकों ने मरीज में खोजा वायरस, कुछ ऐसा दिखता है

ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘डायमंड प्रिसेंज जहाज की स्थिति को ध्यान में रखकर हम यथाशीघ्र ब्रिटिश नागरिकों को लाने के लिए उड़ान का इंतजाम कर रहे हैं.’’ प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारे कर्मचारी जरूरी इंतजाम करने के लिए जहाज के ब्रिटिश नागरिकों से संपर्क कर रहे हैं.’’ डायमंड प्रिसेंज जहाज इस माह के प्रारंभ में जब जापान पहुंचा था तब उसमें 3700 से अधिक यात्री और चालक दल के सदस्य थे. जहाज को तीन फरवरी को योकोहामा के समीप समुद्र में पृथक रखा गया. Also Read - चीन में कोरोना वायरस से तीन और लोगों की मौत, संक्रमण के 54 नए मामले आए सामने

जापान सरकार ने मंगलवार को कहा कि जहाज पर सवार सभी लोगों का कोरोना वायरस को लेकर परीक्षण हो चुका है. स्थिति से निपटने के तौर तरीके को लेकर जापान सरकार की आलोचना हो रही है क्योंकि जब से यह जहाज वहां पहुंचा है तब से रोजाना संक्रमण के नये मामले सामने आ रहे हैं. ब्रिटिश मीडिया के अनुसार इस जहाज पर 74 ब्रिटिश यात्री और चालक दल में शामिल सदस्य हैं. इस विषय से निपटने के तौर तरीके को लेकर ब्रिटिश सरकार भी आलोचना की शिकार हुई है.