इस्लामाबादः पाकिस्तान में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 14,885 हो गई है जबकि महमारी से मरने वालों की तादाद 327 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा ने बुधवार को बताया कि संक्रमण से 3425 मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि 129 रोगियों की हालत गंभीर हैं. Also Read - मनीष सिसोदिया ने HRD मंत्री को लिखा खत, कहा- पाठ्यक्रम 30% हो कम, एहतियात के साथ खोला जाए स्कूल  

मंत्रालय ने बताया कि पंजाब में कोरोना वायरस के 5,827, सिंध में 5,291, खैबर-पख्तूनख्वा में 2,160, बलूचिस्तान में 915, गिलगित-बाल्तिस्तान में 330, इस्लामाबाद में 297 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 65 मामले दर्ज किए गए हैं. अब तक 1,65,911 नमूनों की जांच की गई हैं जिनमें से 8,530 नमूनों की जांच 28 अप्रैल को की गई थी. Also Read - महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से अब तक 3,000 की मौत, मामले 83,000 के करीब पहुंचे

थरपारकर के उपायुक्त शहजाद ताहिर ने बताया कि सिंध प्रांतीय विधानसभा के अहम हिन्दू सदस्य राणा हमीर सिंह मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए . इस जानलेवा संक्रमण की चपेट में आने वाले सियातदानों की फेहरिस्त में उनका नाम भी शामिल हो गया है. एक दिन पहले सिंध के गवर्नर इमरान इस्माईल ने कहा था कि वह बीमारी के संपर्क में आ गए हैं. Also Read - वैज्ञानिकों ने किया हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा का विश्लेषण, कोरोना मरीजों के इलाज में नहीं दिखा इस दवा का खास फायदा

सिंह थरपारकर जिले के रहने वाले हैं. इस जिले की सीमा भारत के राजस्थान राज्य से लगती है. वह पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के टिकट पर 2018 के आम चुनाव में जीते थे. सिंध ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने की कोशिश के तहत रमजान के महीने में सभी धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है.