वॉशिंगटन: जॉन हॉपकिन्स विश्वविद्यालय में सेंटर फॉर सिस्टम साइंस और इंजीनियरिंग (सीएसएसई) के मुताबिक, मंगलवार को स्थानीय समयानुसार शाम के छह बजे तक अमेरिका में कोविड-19 के मामलों की संख्या 1,201,337 तक पहुंच गई है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, देश में महामारी से मरने वाले मरीजों की तादात 70,646 है. Also Read - अगस्त-सितंबर में टीम इंडिया का कैंप लगाने के बारे में सोच रही है बीसीसीआई

सीएसएसई के मुताबिक, न्यूयॉर्क इनमें सबसे अधिक प्रभावित है, जहां 321,192 मामले और 25,073 मौतें होने की पुष्टि हुई है. इसके बाद दूसरे नंबर पर न्यू जर्सी है, जहां कुल मामले 130,593 है और 8,244 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं. अन्य कई ऐसे राज्य हैं, जहां 50,000 से अधिक मामले हैं, उनमें मैसाचुसेट्स, इलिनॉयस, कैलीफोर्निया और पेंसिल्वेनिया प्रमुख हैं. Also Read - अमेरिका के बायोटेक कंपनी का दावा, कोरोना के मरीजों पर असरदार हो रहा है यह दवा

संयुक्त राज्य अमेरिका में अब तक इस महामारी ने 70,000 से अधिक लोगों की जानें ले चुकी है, जो दुनिया भर से दर्ज वायरस से हुए लोगों की मौतों का एक चौथाई से अधिक है. ऐसे में यहां की जनता महामारी से भलीभांति निपट न पाने के चलते फेडरल सरकार से नाराज हैं. Also Read - WHO ने भी माना- कोरोना वायरस की जानकारी देने में चीन ने की देरी, दस्तावेजों में हुआ खुलासा

मंगलवार को वॉशिंगटन पोस्ट में मेरीलैंड विश्वविद्यालय द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण के नतीजों के मुताबिक, संघीय वैज्ञानिकों के इस महामारी से निपटने के प्रयासों से अमेरिकी अभिभूत हैं, लेकिन इसके लिए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप द्वारा उठाए गए कदमों से वे खुश नहीं हैं. 28 अप्रैल से 3 मई तक राष्ट्र के तमाम 1,005 वयस्क लोगों पर फोन के माध्यम से यह सर्वेक्षण किया गया.