यरूशलमः कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इजराइल ने पिछले दो सप्ताह में चीन की यात्रा करने वाले लोगों के देश में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है. इजराइल(Israel) के गृह मंत्रालय ने बताया कि यह प्रतिबंध इजराइल के नागरिकों पर लागू नहीं होगा. इजराइल ने चीन से आने वाली सभी उड़ानों पर भी बृहस्पतिवार को रोक लगा दी थी लेकिन इजराइल शनिवार को इससे भी एक कदम आगे बढ़ते हुए दुनिया का तीसरा ऐसा देश बन गया जिसने 14 दिन के भीतर चीन की यात्रा करने वाले विदेशी नागरिकों के देश में प्रवेश पर रोक लगा दी है.Also Read - Monkeypox Virus: यूरोप में तेजी से बढ़ रहे हैं मंकीपॉक्स के मामले, WHO ने बुलाई आपात बैठक, जानिए कितना है खतरनाक...

आपको बता दें कि इस समय कोरोना वायरस(Coronavirus) दुनिया भर में अपने पैर पसार रहा है. सभी देश इससे बचने के कारगर उपाय तलाश रहे हैं. चीन के वेंगझोउ शहर ने वुहान शहर में कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए अपने निवासियों के आवागमन पर रविवार को प्रतिबंध लगा दिए और सड़कें बंद कर दीं. प्राधिकारियों ने बताया कि वेंगझोउ में हर घर का केवल एक ही व्यक्ति दो दिन में एक बार आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी करने बाहर जा सकेगा. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- चीन भारतीय सीमा पर बना रहा पुल, अब डरपोक और विनम्र प्रतिक्रिया से काम नहीं चलेगा

विश्व स्वास्थ संगठन ने कोरोनो वायरस को लेकर दुनिया को सचेत रहने के लिए कहा है. आपको बता दें कि चीन में फैले घातक कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 304 हो गई है और इससे 14,380 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने अपनी दैनिक रिपोर्ट में बताया कि शनिवार तक इस बीमारी के कारण 304 लोगों की मौत हो गई और 14,380 लोगों के इस विषाणु से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. Also Read - Monkeypox Disease: यौन संबंध बनाने से भी फैल सकता है 'मंकीपॉक्स' वायरस, विशेषज्ञों ने चेताया

कोरोना वायरस को लेकर भारत भी पूरी तरह से सचेत है और दुनिया भर से आने वाले यात्रियों की एयपोर्ट पर थर्मल स्कैनिंग की जा रही है. स्वास्थ मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने जानकारी देते हुए कहा कि शनिवार को देश में आए करीब 52 हजार से अधिक यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग की गई.