सैन फ्रांसिस्को: कोविड-19 (COVID-19) फैलने के खतरे के बीच ट्विटर (Twitter) ने कोरोनावायरस से जुड़ी गलत और शरारतपूर्ण सामग्री को रोकने के लिए सुरक्षा नियम बढ़ा दिए हैं. लिहाजा अब ट्विटर से लोगों को ऐसी सामग्री डालने से बचना चाहिए. माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ने एक बयान में कहा, “विशेषज्ञ मार्गदर्शन को नकारने, नकली या अप्रभावी उपचार बताने वाले, अधिकारियों द्वारा बताई गई बचाव और जांच प्रक्रिया के बारे में भ्रामक सामग्री का उपयोग को हतोत्साहित करना, इस नए सुरक्षा नियम में शामिल है. Also Read - हेल्‍थ इंश्‍योरेंस, वाहन पॉलिसीधारकों को राहत, 21 अप्रैल तक करा सकेंगे नवीनीकरण

ट्विटर पर कानून, नीति और विश्वास और सुरक्षा के लिए वैश्विक नेतृत्व करने वाली विजया गद्दे ने कहा कि कंपनी संभावित रूप से अपमानजनक और छेड़छाड़ की सामग्री पर विस्तृत कार्रवाई करने के लिए मशीन के स्वचालन के अपने उपयोग को बढ़ा रही है. बयान में कहा गया है कि इसमें उपचार या सुरक्षात्मक उपायों का वो विवरण भी शामिल है जो तुरंत हानिकारक नहीं हैं लेकिन अप्रभावी होने के लिए जाना जाता है. साथ ही दूसरों को भ्रमित करने के इरादे से साझा किए जा रहे हैं. Also Read - कोरोना से गई मुस्लिम व्यक्ति की जान, कब्रिस्तान में नहीं दफनाने दिया, जलाया गया

ट्वीट्स की जांच करेगा ट्विटर
ऐसी सामग्री को ट्विटर पर प्रतिबंधित किया जा रहा है. ट्विटर “विशिष्ट और असत्यापित दावों वालों ट्वीट्स की जांच करेगा जो लोगों को कार्रवाई के लिए उकसाता है और व्यापक स्तर पर आतंक, सामाजिक अशांति या बड़े पैमाने पर विकार पैदा करता है. कोविड-19 के मानदंडों या प्रक्रियाओं के बारे में झूठी या भ्रामक जानकारी का प्रचार करना जैसे “यदि आप 10 सेकंड के लिए अपनी सांस रोक सकते हैं, तो इसका मतलब है कि पास कोरोना संक्रमित नहीं है,” भी ट्विटर से हटा दिया जाएगा. Also Read - केरल में शराब खरीदने के विशेष पास पर कोर्ट ने लगाई रोक, कहा- यह निराशाजनक..