Coronavirus Update in China: चीन में कोविड-19 के 67 नए मामले सामने आने के बाद राजधानी बीजिंग के एक थोक बाजार में गए सैकड़ों लोगों की जांच की जा रही है. नए मामलों में से 42 बीजिंग में सामने आए हैं. इससे बाद से चीन में हड़कंप मच गया है. संक्रमण के और फैलने से रोकने के लिए तुरंत कदम उठाया गया है. इसके लिए सोमवार को 90,000 लोगों की कोरोना वायरस जांच शुरू की गई तथा बीजिंग के एक थोक बाजार के निकट के कई आवासीय इलाकों को बंद कर दिया गया. संक्रमण का नया केंद्र बनकर उभरे थोक बाजार शिन्फादी में 30 मई के बाद से करीब दो लाख लोग आए हैं. Also Read - वैज्ञानिकों ने खोजा कोरोना से जुड़ी गंभीर बीमारियों से बच्चों को बचाने का रहस्य, जानिए क्या है इनका दावा  

इससे पहले बीजिंग के स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बीजिंग में अधिकारियों में 30 मई से अभी तक शिंफदी थोक बाजार गए करीब 29,386 लोगों की ‘न्यूक्लेइक एसिड जांच’ की गई है. Also Read - कोरोना महामारी के बीच फिल्म निर्माता बना रहे हैं ये प्लान, तापसी पन्नू की आगामी फिल्म से हो सकती है शुरुआत

थोक बाजार में हाल ही में कोरोना वायरस के कई मामले सामने आए हैं. अभी तक की गई जांच में से 12,973 लोगों के संक्रमित ना होने की पुष्टि हुई है और बाकियों की रिपोर्ट का इंतजार है. Also Read - अमेरिका में नए वीजा नियम से लाखों भारतीय छात्र परेशान, क्या नरमी बरतेगा ट्रंप प्रशासन?

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने अपनी दैनिक रिपोर्ट में सोमवार को बताया कि कोविड-19 के 49 नए मामले सामने आए हैं और बिना लक्षण के 18 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.

रविवार तक बिना किसी लक्षण के संक्रमित पाए गए 112 लोग पृथक रह रहे थे. ये ऐसे मरीज हैं, जिनमें कोविड-19 का कोई लक्षण नहीं था, लेकिन फिर भी ये जांच में संक्रमित पाए गए. इनसे दूसरों के संक्रमित होने का भी खतरा है.

आयोग के अनुसार नए 49 मामलों में से 36 मामले सोमवार को बीजिंग में सामने आए. ये मामले उस थोक बाजार में सामने आए हैं जहां से शहर में मांस और सब्जियों की आपूर्ति की जाती है.

बीजिंग में शिंफदी बाजार को बंद कर दिया गया है और वहां काम करने वाले सभी लोगों को जांच कराने और वहां गए हर व्यक्ति को दो सप्ताह तक पृथक रहने का आदेश दिया गया है.

देश में रविवार तक 83,181 मामले सामने आए, जिनमें से 177 लोगों का इलाज जारी है. इनमें से दो की हालत गंभीर है. एनएचसी ने कहा कि 78,370 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. वहीं 4634 लोगों की इससे जान चली गई.