लंदन: ब्रिटेन में कोरोना वायरस महामारी के चलते हवाई यात्रा में भारी गिरावट आने के चलते एयरोस्पेस इंजन बनाने वाली कंपनी रोल्स-रॉयस ने दुनिया भर में करीब 9,000 नौकरियों की कटौती की है. कंपनी में कुल 52,000 कर्मचारी हैं और अभी यह स्पष्ट नहीं है कि यह कटौती कहां की जाएगी. कंपनी के मुख्य कार्यकारी वारेन ईस्ट ने कहा कि इस अप्रत्याशित समय में कंपनी को संभालने के लिए कठिन निर्णय लेने होंगे. Also Read - ICC Meeting: टी20 विश्‍व कप 2020 के भविष्‍य को लेकर फैसला 10 जून तक स्‍थगित

ब्रिटेन में कोरोना वायरस की तबाही
Coronavirus के कुल केस: 248,818
मौतें : 35,341 Also Read - Coronavirus Effect: अब इस राज्य में पोस्टमैन घर-घर पहुंचाएंगे आम और लीची, जानें क्या है सरकार की प्लानिंग

कोरोना वायरस प्रभाव: ब्रिटेन में बेरोजगारी दावा करने वालों की संख्या 69 प्रतिशत बढ़ी
कोरोना वायरस संकट से ब्रिटेन में बेरोजगारी उल्लेखनीय रूप से बढ़ी है. अकेले अप्रैल महीने में नौकरी नहीं होने का दावा
करने वालों की संख्या 69 प्रतिशत बढ़ गई है Also Read - भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा कोविड-19 के लक्षणों के बाद अस्पताल में भर्ती

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (ओएनएस) ने कहा कि नौकरी नहीं होने का दावा करने वालों की संख्या अप्रैल में बढ़कर 21 लाख पहुंच गई जो एक माह पहले 8,56,000 थी. ओएनएस के उप-राष्ट्रीय सांख्यिकीविद् जोनाथन एथो ने कहा कि यह आंकड़ा ‘लॉकडाउन’ के पहले सप्ताह का है. उन्होंने कहा, मार्च में रोजगार की स्थित ठीक-ठाक थी लेकिन मार्च के अखिर में कामकाजी घंटे के हिसाब से काम करने वालों की संख्या तेजी से घटी. यह स्थिति होटल और निर्माण क्षेत्र में विशेष रूप से देखने को मिली.

कामकाज और ब्रिटेन की पेंशन मामलों की मंत्री थेरेसा कॉफे ने बीबीसी से कहा कि सरकार उन लोगों पर ध्यान दे रही है, जो सार्वभौमिक सहायता (क्रेडिट) का दावा कर रहे हैं. सार्वभौमिक सहायता (यूनिवर्सल क्रेडिट) एक कल्याणकारी भुगतान व्यवस्था है. इसके तहत बेरोजगारों समेत जरूरतमंदों को मदद की जाती है.