मैड्रिड: पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में है. चीन के वुहान शहर से शुरू हुए इस वायरस का सबसे ज्यादा असर यूरोपीय देशों पर पड़ा है. इटली और स्पेन में लाखों लोग इस वायरस की चपेट में हैं और हजारों लोग अपनी जान गांवा चुके हैं. इटली के बाद स्पेन में भी कोरोनावायरस से होने वाली मौतों की संख्या चीन में हुई मौतों के आंकड़ों को भी पार कर गई है. Also Read - World Hypertension Day 2021: कोरोना काल में हाइपरटेंशन को न लें हल्के में, जानें हर बात

कहा जा रहा है कि चीन ने काफी हद तक इस वायरस के प्रसार पर नियंत्रण पा लिया है और अब वो दुनिया को सहायाता मुहैया करा रहा है. इसी क्रम में स्पेन ने चीन से 640,000 कोरोवायरस टेस्ट किट खरीदे हैं. लेकिन अब ये खबरें आई हैं कि ये किट बेकार हैं. द सन की रिपोर्ट के मुताबिक स्पेन की सरकार ने देश में फैले कोविद -19 संक्रमण दर की सही चांज की खोज के लिए बड़े पैमाने पर टेस्ट के लिए चीनी फर्म शेन्ज़ेन बायोएजी बायोटेक्नोलॉजी से कोरोना वायरस टेस्ट किट खरीदी हैं. Also Read - लाल लिपस्टिक लगाने के लिए तड़प रही हैं Raveena Tandon, टांग अड़ा रही है ये बात बोलीं- जरूरी है क्या???

इटली के बाद स्पेन में किसी भी देश की तुलना में मृत्यु दर सबसे अधिक है. स्पेन में 4,100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 57,000 संक्रमित हैं. आशंका है कि देश की स्वास्थ्य प्रणाली अब रोगियों के वजन के नीचे ढह रही है. लैबोरेटरीज में एनालिसिस से पता चला कि नई रैपिड टेस्टिंग किट केवल 30 प्रतिशत ही पॉजिटिव रोगियों की पहचान करती है. Also Read - Anti-COVID Drug: DRDO की विकसित एंटी कोविड दवा 2DG लॉन्च हुई

उदाहरण के लिए यदि कोरोना वायरस वाले 10 रोगियों का टेस्ट है तो उसमें गलत तरह से 7 रोगी नेगेटिव आते हैं. टेस्ट में 80 प्रतिशत सफलता दर होनी चाहिए.

पिछले दिसंबर में चीन में ही यह महामारी पैदा हुई थी और फिर पूरी दुनिया में फैल गई. वॉशिंगटन की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार, इस घातक वायरस से स्पेन में अब तक 3,647 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि चीन में यह आंकड़ा 3,291 है.

द सन ने एक स्पेनिश अखबार एल पेस के एक सूत्र के हवाले से लिखा- “वे (टेस्ट किट) उम्मीद के मुताबिक पॉजिटिव मामलों का पता नहीं लगा पाते हैं.” नजल स्वैब किट का विश्लेषण करने वाले एक माइक्रोबायोलॉजिस्ट ने कहा: “उस वैल्यू के लिहाज से इन टेस्ट का उपयोग करने का कोई मतलब नहीं है.” खबर के मुताबिक स्पेन के कोरोनावायरस सूनामी का उपरिकेंद्र बन चुके मैड्रिड शहर ने अब इन टेस्ट किट का उपयोग करना बंद कर दिया है.

हालांकि इस बीच स्पेन में चीनी दूतावास ने कहा कि शेनजेन बायोएज़ी टेक्नोलॉजी के पास चिकित्सा उत्पादों को बेचने के लिए “अभी तक एक आधिकारिक लाइसेंस नहीं है.”

वहीं Bioeasy के प्रबंधक झू हाई ने कहा: “मैं स्थिति के बारे में स्पष्ट नहीं हूं. मैंने अभी भी रिपोर्ट [स्पेन से] देखी नहीं है, इसलिए मुझे इसके बारे में और अधिक जानकारी हासिल करने जरूरत है.”