Covid-19 Vaccine: कोरोना महामारी (Corona Epidemic)से पूरी दुनिया परेशान है, इस बिमारी की सबसे बड़ी बात ये है कि अबतक ना इसकी कोई दवा बनी है ना ही टीका. हालांकि कई तरह के टीकों पर शोध चल रहा है और कहा जा रहा है कि अगले साल की शुरूआत में कोविड-19 का टीका (Covid-19 Vaccine)उपलब्ध हो जाएगा. कोरोना का टीका बनाने के लिए पूरी दुनिया के वैज्ञानिक लैब में रातोंदिन काम कर रहे हैं.  इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई है कि सबसे पहले कोविड-19 का टीका किसे लगाया जाएगा?Also Read - Corona Virus: जम्मू-कश्मीर में बेचे जा रहे अनाथ हुए बच्चे, स्टिंग ऑपरेशन के बाद NGO के दो लोग अरेस्ट

इस प्रश्न का अबतक तो कोई ठोस उत्तर नहीं मिला है ना ही इस बारे में अभी कोई निर्णय ही हुआ है, लेकिन अमेरिका और विश्व में अनेक विशेषज्ञ इस बात पर सहमत हैं कि सबसे पहले टीका स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े कर्मियों को लगाया जाना चाहिए. टीका विनियोजन पर काम कर रहे सर्गो फाउंडेशन से संबद्ध सेमा स्गेयर ने यह बात कही है. Also Read - Omicron का खतरा : दक्षिण अफ्रीका से लौटे चंडीगढ़ में तीन, बेंगलुरू में दो कोरोना पॉजिटिव; वेरिएंट की जांच जारी

अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (CDC) को सुझाव देने से जुड़ा विशेषज्ञों का एक समूह टीका लगाने में आवश्यक उद्योगों से जुड़े कर्मियों और कुछ खास शारीरिक दिक्कतों से पीड़ित लोगों तथा 65 साल एवं इससे अधिक आयु के लोगों को प्राथमिकता दिए जाने पर विचार कर रहा है. Also Read - Shocking: 15 महीने से मुर्दाघर में रखे थे कोरोना संक्रमित दो शव, सफाई करने गए कर्मियों ने जैसे ही देखा...

यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से टीके को हरी झंडी मिलने पर विशेषज्ञों का समूह दुष्प्रभावों से संबंधित डेटा को देखेगा और यह भी देखेगा कि किस उम्र के लोगों पर टीके का क्या प्रभाव हुआ. इसी बात पर निर्भर करेगा कि समूह सीडीसी को टीका लगाने में किन लोगों को प्राथमिकता देने की सिफारिश करता है.

टीकों की पहली खेप का वितरण करते समय अधिकारियों के सीडीसी के दिशा-निर्देशों का पालन करने की उम्मीद है. शुरू में टीकों की आपूर्ति सीमित होगी. स्गेयर ने उल्लेख किया कि टीका वितरण से संबंधित कई अन्य सवालों के जवाब मिलने अभी बाकी हैं जैसे कि देश में क्या इनका वितरण समान रूप से किया जाएगा या फिर ‘हॉटस्पॉट’ क्षेत्रों को प्राथमिकता दी जाएगी.

(इनपुट- एजेंसी एपी)