लंदन: ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय ने कहा है कि औषधि कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ कोरोना वायरस का टीका विकसित करने के लिए परीक्षण को वह बहाल करेगा. ब्रिटेन में एक मरीज में टीका का दुष्प्रभाव सामने आने के बाद परीक्षण को रोक दिया गया था. विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा है ,‘‘इस तरह के बड़े परीक्षण में आशंका रहती है कि कुछ भागीदार अस्वस्थ होंगे और हर मामले का सावधानी पूर्वक मूल्यांकन कर सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी.’’Also Read - Omicron Booster: 60 साल से ज्यादा उम्र वाला कोई भी ले सकेगा बूस्टर खुराक, सरकार जल्द हटा सकती है ये शर्त

बयान में कहा गया है कि परीक्षण के तहत दुनियाभर में करीब 18,000 लोगों को यह टीका दिया गया है. Also Read - Precaution Dose First Day: पहले दिन करीब 10.50 लाख लोगों को लगी वैक्सीन की तीसरी खुराक मिली

परीक्षण में भाग लेने वाले व्यक्ति की गोपनीयता बनाए रखने की वजह से मरीज की अस्वस्थता के बारे में सूचनाओं का खुलासा नहीं किया गया है. हालांकि, जोर दिया गया है कि वह अपने अध्ययन में सर्वश्रेष्ठ मानकों को अपनाते हुए भागीदारों की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है और सुरक्षा को लेकर लगातार गहराई से मूल्यांकन किया जाएगा . Also Read - Intranasal COVID Vaccine: अब आएगी दर्द रहित वैक्सीन, नाक से दिए जाने वाले टीके पर एक कदम और बढ़ी सरकार

(इनपुट भाषा)