Brain Eating Amoeba: कोरोना महामारी के कारण एक तरफ जहां पूरी दुनिया वैक्सीन के बनने और उसके वितरण की आस लिए बैठी है. इसी बीच अमेरिका में एक नई मुसबीत आन पड़ी है. अमेरिकी शोधकर्ताओं की मानें तो अमेरिकी में दिमाग को खा जानेवाला जानलेवा अमीबा फैल रहा है. यह अमीबा इंसान के दिमाग नुकसान पहुंचाता है. इस अमीबा का नाम नेग्लरिया फाउलेरी है जो जलवायु परिवर्तन के कारण दक्षिणि हिस्से से पूर्वी हिस्से की ओर बढ़ रहा है. सेंटर फॉर डिजीजी कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के शोधकर्ताओं ने इस अमीबा से होने वाले संक्रमणों व खतरों को अध्ययन कर एक चेतावनी भी जारी कर दी है. Also Read - Uttar Pradesh News: बस्ती जेल में 123 कैदी और तीन कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के शोधकर्ताओं ने पाया कि हर साल इस अमीबा से होने वाले बीमारियों का आंकड़ा एक बराबर है लेकिन इस साल उसकी भोगोलिक परिधि में बदलाव देखा जा रहा है. नॉर्थ डकोटा, मिशिगन, इंडियाना, ओहायो, विंसिकान्सिन जैसी जगहों पर इस बीमारी का संक्रमण पहले से ज्यादा हो रहा है. यह अमीबा ब्रेन संक्रमण का कारण बन सकती है. नेग्लरिया फाउलेरी से होने वाली बीमारी का नाम अम्बेरिक मेनिंगोएन्सेफलाइटिस है. Also Read - Lockdown in India: 'लॉकडाउन में भारतीय अरबपतियों की संपत्ति में हुई 35 फीसदी की बढ़ोतरी, दुनिया भर में हर घंटे 1.7 लाख हुए बेरोजगार'

बता दें कि यह बीमारी घातक होती है, शोधकर्ताओं के मुताबिक अमीबा के चपेट में कोई शख्स उस दौरान आता है जब कोई गंदा या दूषित पानी नाक के जरिए शरीर में प्रवेश करती है. इस दौरान सूंघने वाली तंत्रिकाओं द्वारा अमीबा को ब्रेन तक पहुंचने का रास्ता मिल जाता है. इस कारण वह इंसानों के दिमाग तक पहुंच पाती है और दिमाग को क्षतिग्रस्त भी करते हैं. Also Read - द. कोरिया: पालतू जानवर में Covid-19 का पहला मामला आया सामने, बिल्ली का बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित