सेंतानी: इंडोनेशिया में अचानक आई बाढ़ से मरने वालों की संख्या 77 हो गई है. वहीं, मलबे में फंसे एक बच्चे को निकालकर उसके पिता से मिला दिया गया. बाढ़ में घर नष्ट हो जाने से इस बच्चे के शेष परिजनों की मौत हो चुकी है. अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित सेंतानी शहर में पांच महीने के एक बच्चे को उसके जमींदोज घर के मलबे से रविवार को जीवित निकाला गया और उसे उसके पिता से मिलाया गया. इस बच्चे की मां और भाई-बहन मलबे में मृत मिले. Also Read - COVID-19 Latest News: देश में कोरोना के 14,256 नए मामले आए, 13 लाख 90 हजार लोगों को लग चुकी है वैक्‍सीन

उन्होंने कहा, ”उसकी (बच्चे) हालत स्थिर थी. उसका पिता हताश था, लेकिन अपना बच्चा पाकर वह खुश था.” वहीं, देश की आपदा मोचन एजेंसी ने कहा कि बाढ़ से मरने वालों की संख्या 58 से बढ़कर 77 हो गई है और तीन दर्जन से अधिक लोग अब भी लापता हैं. शनिवार को भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से आई आपदा के चलते दर्जनों लोग घायल भी हुए हैं. राष्ट्रीय आपदा मोचन एजेंसी के प्रवक्ता सुतोपो पुर्वो नुग्रोहो ने कहा, ”मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि 43 लोग अभी भी लापता हैं.” Also Read - कर्नाटक के शिवमोगा में ब्‍लास्‍ट से 8 लोगों की हुई मौत, बढ़ सकती है मृतकों की संख्‍या, PM Modi ने दुख जताया

राहत और बचावकर्मियों को जीवित लोगों की तलाश में कीचड़, चट्टानों और जगह-जगह गिरे पड़े पेड़ों जैसी बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है. डॉक्‍टर अस्थाई तंबुओं में घायलों का इलाज कर रहे हैं. सेना ने कहा कि सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र से 5,700 लोगों को निकालकर अन्यत्र पहुंचाया गया है. Also Read - Covid-19 New Cases: देश में करीब 10 हजार नए केस आए, एक्‍ट‍िव मरीज लगभग 2 लाख