वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ ऐतिहासिक महाभियोग की सुनवाई मंगलवार को सीनेट में आरोप-प्रत्यारोप के बीच शुरू हुई. डेमोक्रेट सांसदों ने सीनेट के नेता मिच मैककोनेल पर आरोप लगाया कि वह इस प्रक्रिया के लिए प्रस्तावित नियम लाकर मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं. रिपब्लिकन मैककोनेल ने कुछ बुनियादी नियम प्रस्तावित किये हैं जिसके तहत पहले चरण में गवाहों और सबूतों पर कुछ कड़े प्रतिबंध लागू होंगे और यह मामला तेजी से आगे बढ़ेगा. उन्होंने यह भी कहा है कि वह इस नियम को बदलने की डेमोक्रेट सांसदों की कोशिश को तुरंत रोक देंगे. Also Read - जो बाइडन ने अमेरिका में वैध आव्रजन को रोकने वाले प्रतिबंध को हटाया

आपको बता दें कि ट्रंप के खिलाफ संसद के निचले सदन में चल रही महाभियोग की कार्यवाही को ऊपरी सदन सीनेट भेजने के पक्ष में सांसदों ने कुछ दिन पहले ही वोट किया. सत्ता के दुरुपयोग और संसद के काम में अवरोध पैदा करने के आरोप में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग अब सीनेट में चलने का फैसला आया था. ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही सीनेट में चलाए जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया था. Also Read - डोनाल्ड  ट्रंप ने नहीं कराए थे दंगे, किसी के भी पास पर्याप्त सबूत नहीं'

दावोस: इमरान ने ट्रंप के आगे फिर छेड़ा कश्मीर राग, अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- हम नजर बनाए हुए हैं Also Read - Relief for spouses of H-1B workers: जो बाइडेन का भारतीय महिलाओं को तोहफा, ट्रंप के इस नियम को पलटा

आपको यह भी बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई को संसद के ऊपरी सदन सीनेट में भेजने के लिए निचले सदन ‘हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स’ में बुधवार को मतदान होने का फैसला हुआ था. विपक्षी दल डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने इसकी जानकारी दी थी. 435 सदस्यीय चिनले सदन में डेमोक्रेट्स बहुमत में हैं.