नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प फरवरी के अंत में उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग-उन के दूसरी शिखर वार्ता करेंगे जिसमें प्योंगयोंग के परमाणु निरस्त्रीकरण और मिसाइल कार्यक्रम पर चर्चा होगी. दोनों नेताओं के बीच पहली शिखर वार्ता सिंगापुर में 12 जून, 2018 को हुई थी. व्हाइट हाउस ने हालांकि यह खुलासा नहीं किया है कि दोनों नेताओं के बीच बैठक कब और कहां होगी, लेकिन मीडिया में खबरें हैं कि वियतनाम की राजधानी हनोई या तटवर्ती शहर दनांग में शिखर सम्मेलन को लेकर तैयारियां चल रही हैं.

ट्रम्प के उत्तर कोरियाई राजदूत किम योंग चोल से शुक्रवार को मुलाकात करने के बाद यह घोषणा की गई है. ट्रम्प और योंग चोल के बीच कई मुद्दों पर बातचीत हुई जिसमें किम जोंग-उन द्वारा उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण का वादा पूरा नहीं करना सबसे महत्वपूर्ण रहा. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने बताया कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन का दाहिना हाथ माने जाने वाले किम योंग चोल के साथ ट्रम्प ने ओवल कार्यालय में बातचीत की. सैंडर्स ने कहा,‘राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने किम योंग चोल के साथ परमाणु निरस्त्रीकरण और दूसरी शिखर वार्ता पर करीब डेढ़ घंटे बातचीत की. दूसरी शिखर वार्ता फरवरी अंत में होने वाली है.

उन्होंने एक बयान में कहा, ‘राष्ट्रपति, किम के साथ बातचीत को लेकर उत्सुक हैं. इसके जगह और तारीख की बाद में घोषणा की जाएगी. प्रेस सचिव ने पत्रकारों से कहा, ‘हम आगे बढ़ते रहेंगे, हम बातचीत जारी रखेंगे. उन्होंने कहा कि अमेरिका उत्तर कोरिया के पूरी तरह परमाणु निरस्त्रीकरण करने तक उसपर दबाव और प्रतिबंध बनाए रखना जारी रखेगा. सैंडर्स ने कहा, ‘बंधकों की रिहाई और अन्य कदमों से उत्तर कोरिया पर हमारा विश्वास बढ़ा है और इसलिए हम इस बातचीत जारी रखेंगे. गौरतलब है कि पिछले साल सिंगापुर में हुई ऐतिहासिक शिखर वार्ता के बाद ट्रम्प कई बार किम जोंग-उन से दोबारा मिलने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं.