हैमबर्ग. जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में हो रहे जी20 शिखर सम्मेलन में पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनके रूसी समकक्ष व्लादीमीर पुतिन ने पहली बार हाथ मिलाया. वहीं लंदन में ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कहा कि जी20 देशों के नेता ट्रंप पर एक बार फिर से 2015 की पेरिस जलवायु संधि में शामिल होने के लिये दबाव डालेंगे.

क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने कहा, उन्होंने हाथ मिलाया और कहा कि वे अलग से मुलाकात करेंगे. अरबपति कारोबारी और केजीबी के पूर्व एजेंट की जर्मनी के बंदरगाह शहर हैम्बर्ग में हो रही मुलाकात साल की सबसे चचर्ति सियासी मुलाकातों में से एक बताई जा रही है. बैठक से पहले दोनों नेताओं ने कहा कि वे अंतत: बैठकर बात करने को लेकर आशान्वित हैं.

ट्रंप ने ट्विटर पर लिखा, मैं विश्वनेताओं के साथ आज सभी बैठकों को लेकर उत्सुक हूं, इसमें व्लादीमीर पुतिन के साथ भी मुलाकात शामिल है. चर्चा के लिये काफी कुछ है. यह पूछे जाने पर कि क्या पुतिन भी बातचीत को लेकर ऐसा ही सोचते हैं, पेस्कोव ने कहा सकारात्मक.

वहीं लंदन में ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने कहा कि जी20 शिखर सम्मेलन में ट्रंप पर पेरिस जलवायु संधि में फिर से शामिल होने के लिये दबाव डाला जायेगा. मे ने बीबीसी को बताया, मुझे विश्वास है कि यह संभव है. हम पेरिस करार पर फिर से बातचीत नहीं कर रहे-वे पहले से हैं. लेकिन मैं चाहती हूं कि अमेरिका इसमें फिर से शामिल होने के तरीकों पर विचार करे.