वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी एक सहायक बर्खास्त कर दिया है. खबर है कि उनकी सहायक ने कैंसर से जूझ रहे सीनेटर जॉन मैक्केन द्वारा राष्ट्रपति के एक नामांकन का विरोध करने पर कहा था कि उनकी राय कोई मायने नहीं रखती क्योंकि वे मरने ही वाले हैं. Also Read - देश में लगा करीब एक लाख लोगों की मौत का अंबार, लेकिन टेंशन फ्री होकर गोल्फ खेलते दिखे डोनाल्ड ट्रंप

व्हाइट हाउस के उप प्रवक्ता राज शाह ने एक संक्षित बयान में कहा, ‘‘केली सैडलर राष्ट्रपति के एग्जीक्यूटिव ऑफिस की अब कर्मचारी नहीं रही.” गौरतलब है कि 81 वर्षीय मैक्केन ने सीआईए निदेशक पद पर जिना हास्पेल के नामांकन का विरोध किया था. बता दें कि मैक्केन ब्रेन कैंसर से जूझ रहे हैं. Also Read - US Presidential Election Campaign : हवाई में हुए प्राइमरी चुनाव में जीते डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन

सीएनएन ने व्हाइट हाउस के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि सैडलर ने कर्मचारियों की बैठक में मजाकिया तौर पर यह टिप्पणी की थी, लेकिन लोगों को यह रास नहीं आई. एबीसी के मशहूर कार्यक्रम ‘‘द व्यू’’ पर कंसर्वेटिव कमेंटेटर मेगन मैक्केन ने अपने पिता का बचाव करते हुए कहा, ‘‘मुझे समझ नहीं आता कि किस तरह के माहौल में आप काम कर रहे हैं जहां ऐसी चीजें स्वीकार्य हैं. Also Read - व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव से बड़ी गलती, डोनाल्ड ट्रंप के बैंक अकाउंट का कर दिया खुलासा

उन्होंने कहा ऐसा होने पर आप अगले दिन काम पर आते हैं तथा तब भी आपकी नौकरी बची रहती है.’’ जॉन मैक्केन सेना में अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

-इनपुट एजेंसी