वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इराक की अपनी पहली यात्रा के दौरान कहा कि अमेरिका दुनिया की रखवाली का ठेका नहीं ले सकता. उन्होंने दूसरे देशों से भी जिम्मेदारियां बांटने के लिए कहा. इराक में तैनात अमेरिकी सैनिकों से अचानक मिलने पहुंचे ट्रंप ने युद्धग्रस्त सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाने के फैसले का बचाव किया और कहा कि इसमें कोई देरी नहीं होगी. अमेरिकी सैनिकों को संबोधित करने के बाद ट्रंप ने बगदाद के पश्चिम में स्थित एअर बेस पर पत्रकारों से कहा, ‘अमेरिका लगातार दुनिया की रखवाली का ठेका नहीं ले सकता.’ Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस छोड़ने के दिये संकेत, अधिकारियों से कही यह बात...

यह अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर ट्रंप की पहली इराक यात्रा है. वह प्रथम महिला मेलानिया के साथ इराक के औचक दौरे पर पहुंचे. ट्रंप ने कहा कि अगर अमेरिका पर कोई और आतंकवादी हमला हुआ तो इसका ‘करारा जवाब’’ दिया जाएगा. उन्होंने सैनिकों से कहा, ‘‘अगर कुछ भी होता है तो जिम्मेदार लोगों को ऐसे परिणाम भुगतने पड़ेंगे जो कभी किसी ने नहीं भुगते होंगे.’ Also Read - जी20 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी- बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के प्रयासों से महामारी से उबर सकेंगे

उन्होंने सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुलाने और बाकी क्षेत्रीय देशों खासकर तुर्की पर आईएस के खिलाफ काम पूरा करने की जिम्मेदारी छोड़ने के फैसले का बचाव करते हुए कहा, ‘‘यह ठीक नहीं है कि सारा बोझ हम पर डाल दिया जाए.’’ ट्रंप ने गत सप्ताह विश्व और अपने देश को हैरत में डालते हुए अचानक घोषणा की थी कि अमेरिका, सीरिया से अपने सैनिकों को वापस बुला रहा है. उन्होंने दलील दी कि अब सीरिया में अमेरिका की जरूरत नहीं है क्योंकि आईएस को हरा दिया गया है. Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बड़े बेटे की कोरोना रिपोर्ट आई पॉजिटिव, खुद को किया क्वारंटाइन

(इनपुट-भाषा)