वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद के खिलाफ की गई कार्रवाई से संतुष्ट नहीं है. वा इट हाउस ने कहा कि पहली बार अमेरिका पाकिस्तान को उसके कृत्यों के लिए जिम्मेदार ठहरा रहा है. वाइट हाउस में उप प्रेस सचिव राज शाह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा,  मैं जानता हूं कि हमने पाकिस्तान के साथ अपने रिश्तों को लेकर कुछ स्पष्टता बहाल की है. पहली बार पाकिस्तान को उसके कृत्यों के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

वाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद के खिलाफ की जा रही कार्रवाई से सतुंष्ट नहीं हैं. ट्रंप ने सीधा निर्देश दिया है कि अब सिर्फ आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के आधार पर ही पाकिस्तान और अमेरिका के रिश्ते तय होंगे.

शाह ने कहा,  हमने इन चिंताओं को लेकर पाकिस्तान की वास्तविक स्वीकृति के संबंध में मामूली प्रगति देखी है, लेकिन जब बात पाकिस्तान को लेकर आती है तो राष्ट्रपति प्रगति से संतुष्ट नहीं है. वह राष्ट्रपति ट्रंप की दक्षिण एशिया नीति पर हुई प्रगति के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे. इस नीति का ऐलान पिछले साल अगस्त में किया गया था.

China, Saudi Arabia, Turkey blocked US move to place Pak on terror-financing watch list: Report | आतंकवाद के खिलाफ जंगः चीन, सऊदी और तुर्की ने फिर पाकिस्तान को बचाया

China, Saudi Arabia, Turkey blocked US move to place Pak on terror-financing watch list: Report | आतंकवाद के खिलाफ जंगः चीन, सऊदी और तुर्की ने फिर पाकिस्तान को बचाया

शाह ने बताया कि अमेरिका अपने साझेदार अफगानिस्तान के साथ करीब से काम कर रहा है. हमने आईएसआईएस के खिलाफ अहम बढ़त बनाई है. उनकी मौजूदगी वाले इलाके को कम किया है और उनके सैकड़ों लड़ाकों को मार गिराया है. हमने उनके शीर्ष आकाओं को मार गिराया है और उनके नेतृत्व को खत्म करने के लिए बिना अथक कार्य कर रहे हैं. जहां से भी वह उभरेंगे उन्हें खत्म कर दिया जाएगा.

एक अन्य संवाददाता सम्मेलन में पेंटागन ने कहा कि दक्षिण एशिया नीति पाकिस्तान को एक मौका देती है. पेंटागन की मुख्य प्रेस प्रवक्ता डाना वाइट ने कहा कि रक्षा मंत्री का मानना है कि पाकिस्तान के पास क्षेत्रीय सुरक्षा के संबंध में और बहुत कुछ करने के मौका है और ऐसा करना उसके हित में भी है.