संयुक्त राष्ट्र (अमेरिका): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ तनाव कम करने के लिए उनसे मध्यस्थता करने को कहा है. वहीं ट्रंप ने खान के बयान से ठीक उलट कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने इसके लिए उनसे सम्पर्क किया था लेकिन अभी कुछ भी तय नहीं है.

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र से इतर खान ने ट्रंप और ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी से मुलाकात की थी. इमरान ने न्यूयॉर्क में पत्रकारों से कहा, ‘ट्रंप ने मुझसे पूछा क्या हम तनाव कम कर सकते हैं या कोई अन्य समझौता कर सकते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘ हां, हमने यह सूचना पहुंचा दी है और हम अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने राष्ट्रपति ट्रंप के साथ बैठक के बाद कल तत्काल राष्ट्रपति (ईरान के) रूहानी से बात की. मैं अभी इस पर अधिक जानकारी नहीं दे सकता, सिवाय इसके कि हम मध्यस्थता की कोशिश कर रहे हैं.’ खान ने कहा कि इस महीने की शुरुआत में सऊदी अरब के वली अहद ने भी मुझसे ईरानी राष्ट्रपति से बात करने को कहा था.

इस बीच ट्रंप ने पत्रकारों से ईरान के मुद्दे पर कहा, ‘वे मध्यस्थता करना चाहते हैं. यह निश्चित तौर पर अच्छा सुझाव है लेकिन अभी हम इस पर राजी नहीं हुए हैं.’ वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों के मामले पर मध्यस्थ बनने की अटकलों पर उन्होंने कहा, ‘वह भी हमसे बात कर रहे हैं और कई लोग हमसे इस बारे में बात कर रहे हैं.’ ट्रंप ने कहा, ‘ऐसे ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री खान भी हमसे बात कर रहे हैं. कई लोग बात कर रहे हैं, जर्मनी की चांसलर मॉर्केल ने भी अभी बात की और वह काफी हद तक इसमें शामिल हैं. कई लोग इसमें शामिल हैं. बहुत से लोग हमें बातचीत करते देखना चाहते हैं.’

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने इमरान खान से मध्यस्थता करने के लिए कहा है, इस पर ट्रंप ने कहा, ‘वह यह करना चाहेंगे और हमारे बेहद अच्छे रिश्ते हैं. ऐसा होने की संभावना है.’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन, मैंने ऐसा नहीं कहा, वास्तव में उन्होंने मुझसे पूछा था. उन्हें लगा कि मुलाकात करना अच्छा रहेगा, हम न्यूयॉर्क में हैं और यह करने के लिए अभी हमारे पास समय है, हालांकि हमने पिछले दो दिन में कई द्विपक्षीय बैठकें की हैं.’

(इनपुट एजेंसी से)