मियामी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बराक ओबामा द्वारा क्यूबा के साथ बनाई गई नीति को खारिज कर दिया है. ट्रंप की ओर से अमेरिका-क्यूबा नीति में बदलाव करते हुए रोक लगा दी गई है.

राष्ट्रपति ट्रम्प ने शुक्रवार को यहां घोषणा करते हुए कहा कि वह क्यूबा के साथ भयानक और गुमराह करने वाले सौदे को वापस पीछे ले रहा है. हालांकि उन्होंने कहा कि क्यूबा सरकार और पूर्व राष्ट्रपति ओबामा के बीच हुए समझौते के तहत व्यावसायिक प्रतिबंधों को बहाल कर दिया जाएगा.

हवाना में साल 2014 में अपने चुनावी अभियान के दौरान ट्रंप ने कहा था कि राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा शुरू की गई नई नीति को वापस बदला जाएगा. उन्होंने ने कहा कि इस नीति से क्यूबा में कम्युनिस्ट सरकार को सशक्त किया गया और देश की दमनकारी सैन्य ताकत को समृद्ध किया गया है.

अमेरिका-क्यूबा संबंधों पर लगाई गई रोक के बाद क्यूबा सरकार ने ट्रंप प्रशासन की तीखी आलोचना की है. हालांकि उसने यह भी कहा कि वह अब भी बातचीत और मसले को नए तरीके से सुलझाने के लिए तैयार है.

गौरतलब है कि बराक ओबामा ने विपरित परिस्थियों और कठिन प्रयासों के बाद क्यूबा के साथ फिर से एक नए रिश्ते की शुरूआत की थी. ओबामा के इस फैसले का सभी ने स्वागत किया था और बड़ी संख्या में अमेरिकियों द्वारा समर्थन और क्यूबा-अमेरिका के बीच व्यापार के द्वार फिर से खुलने के बाद लोगों ने ओबामा को शुक्रिया भी कहा था.

लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा शुक्रवार को क्यूबा को लेकर नई नीति की के तहत पुरानी नीति को सिरे से खारिज कर दिया गया और ट्रंप अमेरिकी पर्यटकों के क्यूबा जाने और वहां की कंपनियों के साथ व्यापारिक करार करने पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया है.