वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इराक से अमेरिकी सैनिकों को हटाना इस देश के लिए ‘सबसे बुरा’ होगा. इराक की संसद ने अमेरिकी बलों को हटाने की मांग की है. इराक में अभी 5,000 अमेरिकी सैनिक तैनात हैं. ये सैनिक इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय गठबंधन के तहत तैनात हैं. रविवार को इराक की संसद ने अमेरिकी सैनिकों को देश में अनुमति देने वाले समझौते को खत्म करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया है. Also Read - ईरान के नातान्ज परमाणु इकाई में क्‍या हुआ? इसे ईरानी न्‍यूक्‍लीयर चीफ ने ‘परमाणु आतंकवाद’ करार दिया

ट्रंप ने कहा कि अगर इराक अमेरिकी सैनिकों को यहां से हटाता है तो ‘‘ मेरा मानना है कि यह सबसे खराब चीज इराक के साथ होगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ अगर हम इराक से बाहर निकलेंगे तो ईरान की भूमिका यहां बढ़ जाएगी और इराक के लोग नहीं चाहते हैं कि ईरान इस देश को चलाए.’’ Also Read - US Capitol Lockdown: अमेरिकी संसद के बाहर कार ने पुलिस अधिकारियों को मारी टक्कर, यूएस कैपिटॉल में लगा लॉकडाउन

व्हाइट हाउस के ओवल कार्यालय में संवाददाताओं से ट्रंप ने कहा कि एक बिंदू पर अमेरिका इराक से बाहर निकलना चाहेगा. राष्ट्रपति ने कहा कि इराक में हमने अच्छा काम किया है और इस्लामिक स्टटे से मुक्ति पा ली है. इराक की संसद ने मेजर जनरल सुलेमानी की मौत के बाद यह प्रस्ताव लाया है. Also Read - डोनाल्ड ट्रंप के समय के एच-1बी वीजा प्रतिबंध समाप्त हुए, भारतीय आईटी पेशेवरों को राहत