वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर ऐसी सलाह दी, जिससे उन्हें आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. ट्रंप ने कहा कि लोग कोरोना वायरस से बचने एक लिए रोगाणु नाशक इंजेक्शन लागाएं, इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी. उन्होंने डॉक्टर्स से भी ऐसा करने को कहा था, लेकिन अब वह इससे मुकर गए हैं. इस अजीबो-गरीब सलाह की आलोचना के बाद कहा कि उन्होंने तो ये बात मज़ाक में कही थी. वह व्यंग कर रहे थे और देखना चाहते थे कि लोग इसे कैसे लेते हैं और क्या होता है? बता दें कि कोरोना वायरस से अमेरिका में 50 हज़ार से अधिक मौतें हो चुकी हैं, जबकि लाखों लोग इससे पीड़ित हैं और बीमारी थमने का नाम नहीं ले रही है. Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपतियों के लिए वरदान है व्हाइट हाउस का बंकर, परमाणु बम का भी इसपर नहीं होगा असर

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सफाई दी है कि उन्होंने जब चिकित्सीय पेशेवरों को कोविड-19 के मरीजों के संभावित उपचार के लिए शरीर में टीके से जीवाणुनाशक पहुंचाने को कहा था तो वह दरअसल ‘व्यंग्य’ में कहा गया था. ट्रंप को अपनी विचित्र एवं अवास्तविक सलाहों के लिए स्वास्थ्य विशेषज्ञों से झिड़की मिली. डॉक्टर्स ने कहा कि लोग राष्ट्रपति की ‘खतरनाक’ सलाह न सुनें. Also Read - डोनाल्ड ट्रंप की चेतावनी- अमेरिका में हिंसक प्रदर्शन रोकने के लिए सेना की कर सकते हैं तैनाती

चिकित्सकों और लाइसोल एवं डेटॉल बनाने वाली कंपनियों ने आगाह किया है कि रोगाणुनाशक का शरीर में प्रवेश खतरनाक है. शुक्रवार को जब ट्रंप से उनकी टिप्प्णी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैं आप जैसे संवाददाताओं से मजाक में सवाल पूछ रहा था बस यह देखने के लिए कि क्या होता है.’ उन्होंने कहा, ‘मैं कक्ष में मौजूद संवाददाताओं से शरीर के भीतर रोगाणुनाशक पहुंचाने के बारे में बेहद व्यंग्यात्मक प्रश्न पूछ रहा था.’ Also Read - मध्य प्रदेश: कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 8,283 तक पहुंचा, 385 में सबसे ज्यादा मौतें इंदौर में

ट्रंप ने कहा कि वह ऐसे रोगाणुनाशक के बारे में पूछ रहे थे जिसे सुरक्षित तरीके से लोग अपने हाथों पर मल सकें. अमेरिकी समाचार वेबसाइट द हिल ने ट्रंप के हवाले से कहा, ‘लेकिन यह जरूर वायरस का खात्मा करता है और यह हाथों पर वायरस को मार सकता है और यह चीजों को बहुत बेहतर बनाएगा. यह संवाददाताओं से व्यंग्यात्मक प्रश्न के रूप में किया गया था.’

ओवल ऑफिस में जब एक पत्रकार ने ट्रंप को ध्यान दिलाया कि बृहस्पतिवार को ऐसा विचार सामने रख वह मंच पर उनके बगल में खड़े विशेषज्ञों की ओर सवालिया नजर से देख रहे थे, तो राष्ट्रपति ने दावा किया कि वह उन अधिकारियों से पूछ रहे थे कि, ‘हाथों पर धूप लेने या रोगाणुनाशक मलने से हमें मदद मिल सकती है या नहीं.’