वाशिंगटन: राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हमेशा से खुल कर पवनचक्कियों की आचोलना करते रहे हैं. लेकिन इस सप्ताह जब उन्होंने पवनचक्कियों से निकलने वाली आवाज को कैंसर का कारण बताया तो क्या दोस्त और क्या दुश्मन सभी इस बेवकूफी पर हंस पड़े. Also Read - आखिर किसे माफ़ी देकर खुश हुए डोनाल्ड ट्रंप, बोले- 'मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं, बधाई'

अमेरिकी सदन आपातकाल की घोषणा पर ट्रंप के वीटो को रद्द करने में नाकाम Also Read - अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस छोड़ने के दिये संकेत, अधिकारियों से कही यह बात...

सदन की स्पीकर नैन्सी पावेल ने गुरुवार को ट्रंप के इस बयान को बेवकूफी भरा बताया. इससे पहले ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के सीनेट चक ग्रासले भी कुछ ऐसी ही प्रतिक्रिया दे चुके हैं. आगामी राष्ट्रपति चुनाव के लिए धन जुटाने को लेकर वाशिंगटन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान ट्रंप ने पवनचक्कियों की जमकर बुराई की. Also Read - जी20 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदी- बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के प्रयासों से महामारी से उबर सकेंगे

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तर कोरिया पर लगाए अतिरिक्त प्रतिबंध हटाने का दिया आदेश

पवनचक्कियों और पवनऊर्जा का मजाक बनाते रहे हैं ट्रंप
राष्ट्रपति ने वहां मौजूद लोगों से कहा कि वह कहते हैं कि (पवनचक्कियों की) आवाज से कैंसर होता है. हालांकि अभी तक इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है. ताप विद्युत या कोयले से बनने वाली बिजली के धुर समर्थक ट्रंप अपनी रैलियों में भी पवनचक्कियों और पवनऊर्जा का मजाक बनाते रहे हैं.

‘जब से मोदी ने सत्ता संभाली है तब से अमेरिका-भारत संबंध वास्तव में समृद्ध हुए हैं’