संयुक्त राष्ट्र: अक्सर अपने बयानों की वजह से चर्चा में रहने वाले डोनाल्ड ट्रंप ने नोबेल पुरस्कार ना जीत पाने का अफसोस जताया है. उन्होंने कहा है कि यह अन्याय है कि उन्हें कभी नोबेल शांति पुरस्कार नहीं मिला. उन्होंने शिकायत भरे लहजे में कहा, ‘‘मुझे कई चीजों के लिए नोबेल पुरस्कार मिलता अगर वे इसे निष्पक्ष तरीके से देते लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.’’ Also Read - 20 जनवरी से राष्ट्रपति नहीं रहेंगे डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका में हिंसा की आशंका, वाशिंगटन बुलाए गए हजारों सैनिक

इमरान से मुलाकात के बाद ट्रंप के बदले सुर, फिर कहा- कश्मीर में मध्यस्थता के लिए तैयार हूं Also Read - ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्‍ताव पास, बिडेन ने कहा- सशस्त्र विद्रोह के जिम्‍मेदारों को जवाबदेह ठहराया जाए

ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में उनके पूर्ववर्ती बराक ओबामा को साल 2009 में दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार दिए जाने पर हैरानी जताई. ओबामा को शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया था. उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने ओबामा के राष्ट्रपति बनने के तुरंत बाद उन्हें पुरस्कार दे दिया और उन्हें पता तक नहीं था कि उन्हें यह क्यों मिला. आप जानते हैं? मैं बस इस बात पर उनसे सहमत हूं.’’ वह संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ द्विपक्षीय बैठक में बोल रहे थे. Also Read - डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ आज पारित हो सकता है महाभियोग प्रस्ताव, अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने 25वां संशोधन लागू करने की पेंस से की अपील

बता दें कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को साल 2009 में नोबेल शांति पुरस्कार मिला था. विश्व शांति के लिए किए गए प्रयासों के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया था.

(इनपुट- एजेंसी)