जकार्ता: इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप में आए ताकतवर भूकंप और इससे पैदा हुई सुनामी की चपेट में आने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 832 हो गई है. रविवार को ये जानकारी एक आपदा प्रबंधन एजेंसी ने दी. कम से कम 540 लोग बुरी तरह घायल हुए हैं. अस्पतालों को बड़ी संख्या में भर्ती किए जा रहे घायलों के इलाज में काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है. करीब साढ़े तीन लाख की आबादी वाले पालू में शुक्रवार को सुनामी की चपेट में आने से मारे गए लोगों के शव समुद्र तट पर नजर आ रहे हैं. इंडोनेशिया की सरकारी न्यूज एजेंसी अंतारा ने राष्ट्रीय आपदा एजेंसी के प्रमुख के हवाले से पालू में मारे गए लोगों का ताजा आंकड़ा बताया. Also Read - Delhi COVID-19 Cases Update: दिल्‍ली में कोरोना के 4,906 नए,Total Death toll 9000 के पार

Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

इंडोनेशिया में भूकंप और सुनामी से करीब 400 लोगों की मौत Also Read - Earthquake News: मध्यप्रदेश के सिवनी में भूकंप के झटके, 4.3 मापी गई तीव्रता

बता दें कि दो दिन पहले यानि बीते शुक्रवार को 7.5 तीव्रता के भूकंप और सुनामी में 1.5 मीटर ऊंची लहरें उठी थी और पानी द्वीप के भीतर घुस आया था. अब तक सभी मौतें पालू शहर में दर्ज की गई. पालू के उत्तर में स्थित डोंग्गला क्षेत्र में 11 लोगों के मारे जाने की सूचना मिली है.

इंडोनेशिया: भूकंप और सुनामी से 420 की मौत, बढ़ सकती है संख्या, मदद को भारत ने बढ़ाए हाथ

इस बीच, भूकंप-सुनामी से सबसे अधिक प्रभावित पालू शहर में राहत एवं बचाव कर्मियों के पहुंचने का सिलसिला जारी है. इस आपदा में जीवित बचे लोग मृतकों के शव बरामद करने में अधिकारियों की मदद कर रहे हैं.

7.5 की तीव्रता का भूकंप, उठीं लहरें

अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि 7.5 तीव्रता के भूकंप और सुनामी में पांच-पांच फुट ऊंची उठी लहरों की चपेट में आए हताहतों की संख्या बढ़ रही है, क्योंकि अब सुदूर इलाकों से नुकसान की सूचनाएं मिल रही हैं.

540 लोग बुरी तरह घायल

एजेंसी के एक प्रवक्ता ने कहा कि कम से कम 540 लोग बुरी तरह घायल हुए हैं. अस्पतालों को बड़ी संख्या में भर्ती किए जा रहे घायलों के इलाज में काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है.

शवों को तलाशने का काम जारी

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने कहा कि क्षेत्र में सेना को बुलाया गया है ताकि वह पीड़ितों तक पहुंचने और शवों को तलाशने में खोज एवं बचाव टीमों की मदद कर सके. कुछ सरकारी विमान राहत सामग्री लेकर पालू के प्रमुख एयरपोर्ट तक पहुंचे हैं. लेकिन अधिकारियों का कहना है कि अगले कुछ दिनों तक यह हवाई अड्डा वाणिज्यिक उड़ानों के लिए बंद रहेगा.

समुद्र तट पर जुटे लोग अभी तक लापता

शुक्रवार की शाम को समुद्र तट पर जश्न की तैयारी में जुटे लोग लापता बताए जा रहे हैं. उनके बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिलने से चिंता की स्थिति बनी हुई है. यह जानकारी आपदा एजेंसी ने दी.