ब्रसेल्स: यूरोपीय संघ (ईयू) ने मंगलवार को घोषणा की कि वह 14 देशों के यात्रियों के लिए अपनी सीमाओं को फिर से खोल रहा है. लेकिन अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण अधिकतर अमेरिकियों को कम से कम दो सप्ताह तक प्रवेश नहीं दिया जाएगा. रूस, ब्राजील और भारत जैसे अन्य कई बड़े देशों के यात्रियों को भी प्रवेश की अनुमति नहीं होगी.Also Read - Delhi में कोव‍िड प्रत‍िबंधों में छूट, मॉल, सिनेमा, रेस्‍टोरेंट्स 50 फीसदी की क्षमता से संचाल‍ित होंगे

यूरोप की अर्थव्यवस्था कोरोना वायरस के कारण काफी प्रभावित हुयी है. यूनान, इटली और स्पेन जैसे दक्षिणी यूरोपीय संघ के देश धूप पसंद करने वाले पर्यटकों को आकर्षित करने तथा प्रभावित पर्यटन उद्योगों में जान डालने के लिए बेचैन हैं. एक अनुमान के तहत हर साल 1.5 करोड़ से अधिक अमेरिकी यूरोप की यात्रा करते हैं. Also Read - West Bengal में कोविड-19 RTPCR टेस्‍ट का रेट घटा, लगभग आधे रुपए देने होंगे

यूरोपीय संघ के 27 सदस्य देशों में जिन देशों के नागरिकों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी उनमें अल्जीरिया, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जॉर्जिया, जापान, मोंटेनेग्रो, मोरक्को, न्यूजीलैंड, रवांडा, सर्बिया, दक्षिण कोरिया, थाईलैंड, ट्यूनीशिया और उरुग्वे शामिल हैं. Also Read - Corona Update: कोरोना से अब तक दुनियाभर में कुल 36 करोड़ लोग संक्रमित, 56 लाख से ज्यादा की मौत

यूरोपीय संघ के अनुसार इस सूची को हर 14 दिनों में अपडेट किया जाना है और इसमें नए देशों को जोड़ा जा सकता है या कुछ देशों को सूची से हटाया जा सकता है. यह इस बात पर निर्भर करेगा कि वे अपने यहां इस बीमारी पर काबू पा रहे हैं या नहीं.

(इनपुट भाषा)