प्योंगयांग : सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी के अखबार के पहले पन्ने पर छाई तस्वीरों में कुछ ऐसा था जिसकी उत्तर कोरिया के लोगों ने कुछ महीने पहले तक कल्पना भी नहीं की होगी. इनमें उनके नेता किम जोंग उन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ बड़ी गर्मजोशी से हाथ मिलाते दिख रहे थे. स्थानीय मीडिया ने इसे ‘सदी की वार्ता’ करार दिया. सिंगापुर में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और किम जोंग के हाथ मिलाने और गर्मजोशी से एक दूसरे का अभिवादन करने की तस्वीरें आने के बाद उत्तर कोरिया ने इस पर उत्साही प्रतिक्रिया दी और प्योंगयांग के साथ एक नई शुरूआत की उम्मीद जताई. Also Read - Year Ender 2018: 'भारत-अमेरिका' नई उंचाइयों पर पहुंचे संबंध, ऐतिहासिक रहा ये साल

प्योंगयांग से आई पहली खबरों में उन देशों के बीच जो तकनीकि रूप से अभी भी युद्ध की कगार पर हैं के बीच नए संबंधों की शुरुआत बताया गया. इनमें उत्तर कोरिया के लोगों को यह बात जोर देकर बताई गई कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, तनाव दूर करने की दिशा में वार्ता जारी रहने तक उत्तर कोरिया के साथ संयुक्त सैन्य अभ्यास बंद करने की किम की मांग मान गए हैं. हालांकि अमेरिका ने अभी तक उत्तर कोरिया पर लगाए गए प्रतिबन्ध वापस नहीं लिए हैं लेकिन कहा गया है कि जैसे-जैसे बातचीत आगे बढ़ेगी वह पाबंदियों को दूर करते जाएंगे. Also Read - किम जोंग उन जल्दी ही सियोल व रूस की आधिकारिक यात्रा करेंगे: मून

उत्तर कोरिया की सरकारी कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने नेताओं के सम्मेलन के बारे में कुछ इस तरह से लिखा है कि, ‘राष्ट्रपति ट्रंप ने इस बात कि सराहना की, कि कोरिया प्रायद्वीप में शांति और स्थिरता का माहौल तैयार किया गया है. कुछ महीनों पहले तक जहां सशस्त्र संघर्ष का गंभीर खतरा था, वहीं हमारे अमनप्रिय सम्मानित नेता ने इस साल की शुरुआत से शांति के लिए सक्रियता के साथ कदम उठाने शुरू किए.’ Also Read - सऊदी अरब स्वीकार कर सकता है कि पूछताछ के दौरान खशोगी की मौत हुई: मीडिया रिपोर्ट

वहीँ अंग्रेजी भाषा के दैनिक अखबार कोरिया टाइम्स ने वार्ता का स्वागत करते हुए लिखा कि यह कोरियाई प्रायद्वीप से तनाव खत्म करने की दिशा में एक कदम है. उन्होंने लिखा है कि लगभग 7 दशक पहले कोरियाई द्वीप दो हिस्सों में विभाजित हो गया था. जिसके बाद उत्तर कोरिया में कम्युनिस्ट शासन स्थापित हुआ और दक्षिण कोरिया एक लोकतांत्रिक देश बन गया. ( इनपुट एजेंसी )