वॉशिंग्टनः उपभोक्ता डेटा दुरूपयोग के मामले में अमेरिकी संसद की एक शक्तिशाली समिति ने तीन बड़ी सोशल मीडिया कंपनियों के सीईओ – फेसबुक के मार्क जुकरबर्ग, गूगल के भारतीय- अमेरिकी सुन्दर पिचई और ट्विटर के जैक डोरसी को डेटा निजता संबंधी सुनवाई में उपस्थित होने को कहा है. सीनेट की न्यायिक मामलों की समिति ने इस संबंध में सुनवाई 10 अप्रैल को तय की है. समिति के अध्यक्ष चक ग्रैसली ने एक बयान में कहा कि उपभोक्ता डेटा की सुरक्षा निगरानी के संबंध में कंपनी की पुरानी और भविष्य की नीतियों पर चर्चा के लिए जुकरबर्ग को बुलाया गया है. Also Read - James Naismith: जेम्स नाइस्मिथ ने कुछ ऐसे की थी बास्केटबॉल खेल की खोज, गूगल ने बनाया Doodle

इस सुनवाई में मोटे तौर पर व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए उपभोक्ता डेटा एकत्र करने, उसे जमा रखने और बांटने के संबंध में निजता के मानदंडों पर चर्चा होगी. मीडिया में आए बयान के अनुसार, सुनवाई में इस पर गौर किया जाएगा कि डेटा का दुरूपयोग किस प्रकार से हो सकता है या उन्हें गलत तरीके सेदू सरों को कैसे दिया जा सकता है. साथ ही उपभोक्ताओं को ऐसी समस्याओं से बचाने तथा प्रक्रिया में और पारदर्शिता लाने के लिए फेसबुक जैसी कंपनियां क्या कदम उठा सकती हैं. Also Read - Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती, दी गई यह दलील...

डाटा सुरक्षा पर मांगा जवाब
ग्रैसली ने पिचई और डोरसी को भी इस सुनवाई में बुलाया है. सीनेटर मार्क वॉर्नर ने भी इन सोशल मीडिया कंपनियों से डेटा सुरक्षा पर जवाब मांगा है. वहीं फेसबुक डेटा दुरूपयोग और एनालिटिका मामले में अमेरिकी संघीय व्यापार आयोग ने कहा है कि वह निजता के मुद्दे को लेकर फेसबुक के खिलाफ जांच कर रहा है. एफटीसी ने कल एक बयान में इसकी पुष्टि की थी कि उसने फेसबुक की निजता नीतियों को लेकर एक‘‘ गैर- सार्वजनिक जांच’’ शुरू की है. ब्यूरो ऑफ कंज्यूमर प्रोटेक्शन में एफटीसी के कार्यकारी निदेशक टॉम पहल ने कहा, एफटीसी फेसबुक की निजता नीतियों से जुड़ी चिंताओं को गंभीरता से लेता है. उन्होंने कहा कि एफटीसी पूरे तौर पर उपभोक्ताओं की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है. Also Read - Google Removed Apps From Playstore: Google ने सुरक्षा नीति के चलते कई ऐप्स को प्ले स्टोर से हटाया, कहीं आप भी तो नहीं कर रहे थे यूज