ह्यूस्टनः फेसबुक के संस्थापक मार्ग जुकरबर्ग और उनकी पत्नी ​प्रिसिला चान की ओर से परोपकार के लिए गठित संगठन​ चान जुकरबर्ग इनीशिएटिव ने कोरोना वायरस से फैलने वाली बीमारी का उपचार खोजने के लिए बिल एवं मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के साथ हाथ मिलाने और 2.5 करोड़ डालर की राशि का योगदान करने की घोषणा की है. अमेरिकी उद्यमी एवं माइक्रोसाफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स और उनकी पत्नी मिलिंडा इस समय अपना समय और धन परमार्थ कार्य पर लगा रहे हैं. Also Read - Summer Vacation Begins in Delhi Schools: दिल्ली के स्कूलों में अब इस दिन से गर्मी की छुट्टियां

चान ने अमेरिकी टीवी चैनल सीबीएस पर गाइल किंग के साक्षात्कार कार्यक्रम ‘सीबीएस दिस मार्निंग’ में विश्वव्यापी महामारी कोविड—19 संबंधी चान जुकरबर्ग इनीशिएटिव के निर्णय की जानकारी दी. उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे यह बाताते हुए वास्तव में बहुत गर्व हो रहा है कि हम कोरोना वायरस का इलाज खोजने में तेजी लाने के प्रयासों में गेट्स और अन्य के साथ शामिल होने जा रहे हैं.’’ Also Read - कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार: पीएम मोदी

उन्होंने बताया के वे लोग यह सहायता चिकित्सकों और वैज्ञानिकों के एक ऐसे समूह को दे रहे है जो उन सभी ज्ञात औषधियों की परख व विश्लेषण करेगा जो कोरोना वायरस संक्रमण के उपचार में कारगर हो सकती है. इसका उद्देश्य इस बीमारी के उपचार के तरीके ढूंढने में तेजी लाना है. Also Read - अब दिल्ली के किसी भी स्टेशन पर नहीं मिलेंगे प्लेटफॉर्म टिकट, जानिए क्यों लिया गया ये फैसला

चीन से शुरू कोरोना वायरस से दुनिया भर में लाखों लोग संक्रमित हुए हैं और इससे मरने वालों की संख्या 25 हजार से भी अधिक हो गई है. अकेले अमेरिका में संक्रमितों की संख्या एक लाख से अधिक हो गई है. आपको बता दें कि कोरोना से अमेरिका में अब तक इस वायरस से 2200 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. अकेले न्यूयार्क में लगभग 782 लोगों ने अपनी जान गवाई है जबकि 53 हजार लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं.