वॉशिंगटन। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक का हुआवेई समेत कम से कम चार चीनी कंपनियों के साथ डेटा साझा समझौते हैं. एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है. बता दें कि चीनी मोबाइल कंपनी हुआवेई को अमेरिका सुरक्षा एजेंसियों की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा माना गया है. न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, फेसबुक ने कहा कि चीनी कंपनियों के साथ समझौता उन्हें (कंपनियों) दोनों उपकरणों के उपयोगकर्ताओं और उनके दोस्तों के धार्मिक और राजनीतिक झुकाव, काम, शैक्षिक जानकारी और रिलेशनशिप स्टेटस सहित विस्तृत जानकारी तक पहुंचने की अनुमति देता है. इस तरह की अनुमति की पेशकश ब्लैकबेरी को भी की गई है. Also Read - Facebook ने पेश किया म्यूजिक वीडियो मेकिंग ऐप, Tik Tok ही तरह करेगा काम

Also Read - आ गया Facebook Shop, वर्चुअल दुकान से करें खरीदारी, जानें कैसे...?

फेसबुक की सफाई Also Read - इस बड़ी मोबाइल कंपनी की नोएडा स्थित फैक्टरी में 9 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, काम रोका गया

फेसबुक ने कहा कि ये समझौता 2010 से पुराने हैं लेकिन हुआवेई के साथ समझौता सप्ताह के अंत तक खत्म हो जाएगा. न्यूयॉर्क टाइम्स ने कहा कि फेसबुक का हुआवेई, लेनोवो, ओप्पो और टीसीएल के साथ डेटा साझा समझौते हैं, जिसके चलते चीनी कंपनियों कुछ उपयोगकर्ताओं के डेटा तक निजी पहुंच रखती हैं.

डाटा लीक होने के कारण फेसबुक को भारी नुकसान, एक दिन में 2 लाख करोड़ रुपये डूबे

अखबार ने कहा कि ये सौदे फेसबुक पर और अधिक मोबाइल उपयोगकर्ताओं को बढ़ाना देने के प्रयासों का हिस्सा है. इन समझौतों ने उपकरण निर्माताओं को कुछ फेसबुक फीचर्स जैसे एड्रेस बुक, ‘ लाइक ‘ बटन और स्टेटस अपडेट्स की पेशकश करने की इजाजत दी. अमेरिकी सांसदों ने फेसबुक द्वारा चीनी कंपनियों के साथ किए गए इस तरह के समझौतों को लेकर चिंता जताई है.