Dawood Ibrahim`s close gangster  Faheem Machmach died of covid-19 in Pakistan: अंडरवर्ल्ड डॉन (Underworld Don) दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) के नजदीकी सहयोगी गैंगस्टर फहीम मचमच (Faheem Machmach) की कोविड-19 से पाकिस्तान (Pakistan) के कराची (Karachi) में मौत हो गई है. मुंबई पुलिस के सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी. उसका अंतिम संस्कार शुक्रवार शाम एक स्थानीय कब्रिस्तान में किया गया, जिसमें मुट्ठी भर लोग मौजूद थे.Also Read - BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने घरेलू क्रिकेटरों की मैच फीस बढ़ाए जाने के फैसले का स्वागत किया

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार देर रात को कराची के एक निजी अस्पताल में 51 वर्षीय मचमच की मौत हो गई. फहीम अहमद शरीफ उर्फ मचमच हत्या, हत्या के प्रयास, उगाही और अन्य आपराधिक वारदातों में मुंबई और अन्य शहरों में वांछित था. Also Read - आलिया भट्ट ने टीवी एड में उठाया कन्यादान पर सवाल, भड़के यूजर्स बोले- हिंदू रीति-रिवाजों का मजाक उड़ाना बंद करो

पुलिस के अनुसार वह दक्षिण मुंबई के भिंडी बजार इलाके के पेरू लेन का रहने वाला था और अपराध की सीढ़ियां चढ़ते-चढ़ते दाऊद इब्राहिम और उसके दाहिने हाथ छोटा शकील का नजदीकी सहयोगी बन गया था. माना जा रहा था कि मचमच पिछले सात साल से दाऊद के साथ पाकिस्तान में रह रहा था. Also Read - Defamation Case: कंगना रनौत मुंबई की कोर्ट में पेश हुईं, जावेद अख्तर ने दायर किया था मामला

दक्षिण मुंबई के भिंडी बाजार इलाके में पेरू लेन का रहने वाला एक मामूली गुंडा फहीम अपने जबरन वसूली रैकेट के माध्यम से तेजी से अंडरवल्र्ड की दुनिया में अपना नाम बढ़ाता गया. वह तथाकथित डी-कंपनी के हिस्से के रूप में काम कर रहा था, जो कि एक अपराध सिंडिकेट है, जिसका संचालन फरार माफिया डॉन दाऊद इब्राहिम कास्कर करता है, जो अब कराची में स्थित है.

संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाले एक पूर्व सहयोगी ने कहा, एक समय था जब वह रफीकभाई के उपनाम का इस्तेमाल करते हुए बॉलीवुड की विभिन्न हस्तियों को फोन करता था, जिससे उनके लक्षित पीड़ितों के दिलों में आतंक पैदा हो जाता था, जो उनकी मांगों का तुरंत पालन करते थे.

एक माध्यमिक स्कूल में बीच में ही पढ़ाई छोड़ने वाला फहीम जल्द ही छोटा शकील का करीबी विश्वासपात्र बन गया, जिसे दाऊद का दाहिना हाथ माना जाता है. फहीम को मुंबई पुलिस ने 1995 में जबरन वसूली, जान से मारने की धमकी आदि के विभिन्न गंभीर आरोपों में गिरफ्तार किया था, लेकिन वह एक अदालत से जमानत हासिल करने में सफल रहा.

कुख्यात फहीम अहमद शरीफ 1995 में दुबई भागने की कोशिश करते हुए उसे फिर से मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से पकड़ा गया था, लेकिन पुलिस की आपत्तियों के बावजूद, फहीम को फिर से जमानत मिल गई. अपनी दूसरी जमानत का सर्वोत्तम लाभ उठाते हुए, फहीम दुबई भाग गया और तब से उसका नाम आतंक सहित कई अवैध गतिविधियों में शामिल हो गया है, लेकिन वह किसी तरह दो दशकों से अधिक समय तक मुंबई पुलिस के चंगुल से बाहर रहने में कामयाब रहा था.

मुंबई अंडरवर्ल्‍ड में फहीम मचमच के नाम से कुख्यात जबरन वसूली करने वाला कुख्यात फहीम अहमद शरीफ ने शुक्रवार को पाकिस्तान में कोविड-19 संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया. सूत्रों ने शनिवार कहा कि फहीम, जिसका परिवार दक्षिण मुंबई में रहता है. (इनपुट- भाषा-आईएएनएस)