लीमॉजी (फ्रांस): आप जरा कल्पना कीजिए कि घर में अनाज खत्म हो और बच्चों को खाना खिलाना हो, तो आप क्या करेंगे. फ्रांस के लीमॉजी शहर में रहने वाले एक परिवार के सामने कुछ ऐसी ही परिस्थिती आ गई. बच्चों को भूख लगने पर पिता ने आनन फानन में कोका कोला पिला दिया. इसके बाद पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

जाहिर तौर पर आपको यह बात समझ नहीं आई होगी कि कोका कोला पिलाने से कोई पुलिस क्यों पकड़ेगी. दरअसल, हुआ कुछ ऐसा था कि तीन और चार साल के बच्चों का पिता जो ना तो पढ़ सकता है, ना लिख सकता है, ना गिनती कर सकता है और ना ही किसी परिस्थिति की गंभीरता का अंदाजा लगा सकता है, उसने वेलफेयर में मिली पूरी धन राशि को शराब पर लुटा दिया. कुछ दिनों के भीतर ही वेलफेयर में मिली धन राशि समाप्त हो गई और घर में खाने को राशन नहीं बचा.

वारसॉ सुरक्षा फोरम: रक्षा विशेषज्ञ ने अगले 15 वर्ष में चीन-अमेरिका वॉर की जताई आशंका !

फ्रांस की एजेंसी एसोसिएशन फ्रेंच विक्टिम्स की ओर से जारी एक स्टेटमेंट में यह दावा किया गया कि परिवार को हाल ही में वेलफेयर पेमेंट किया गया था, बावजूद इसके कुछ दिनों के भीतर परिवार के पास कुछ भी खाने को नहीं था. कुछ था तो पीने के लिए सिर्फ कोका-कोला.

घर में कुछ भी खाने की चीज ना होने के कारण पिता ने दोनों बच्चों को कोका-कोला पिलाकर जीवित रखा, जिसके कारण बड़ेे बेटे के सात दांत खराब हो गए और उन्हें निकालना पड़ा. जबकि छोटा बेटा बोल नहीं पा रहा है. पत्नी और बच्चों के प्रति हिंसक बताए जाने वाले पिता को तीन महीने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया है और बच्चों को ऐसी जगह रखा गया है, जहां उन्हें मीट और सब्जियां आदि खिलाया जा सके, जहां उनकी सेहत का ध्यान रखा जा सके.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की फोन पर होने वाली बातचीत को सुनते हैं ‘चीन व रूस’: रिपोर्ट

सरकारी वकील के अनुसार उनके फ्लैट में कुछ भी खाने को नहीं था. घर में फ्रिज नहीं था. बच्चे बिना चादर बिछाए गद्दे पर सो रहे थे. घर में कोई खिलौना नहीं था. उनका पिता उन्हें सिर्फ केक और कोक खिलाता था.