सैन फ्रांसिस्को: ट्विटर ने दुनिया भर में तैनात अपने कर्मचारियों को घातक कोरोना वायरस के खतरे से बचाने के लिए सोमवार से घर से ही काम करने को कहा है. पिछले साल दिसंबर में चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस से अबतक 3,100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 90 हजार से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं. संक्रमण बढ़ने की आशंका को देखते हुए यात्रा प्रतिबंध लगाए गए हैं. Also Read - Positive News: घर बैठे करना चाहते हैं फ्रीलांसिग, राइटर्स कम्युनिटी दे रही शानदार मौका

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने संक्रमण से प्रभावित देशों में अपने कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए कहा है. सोमवार के ब्लॉग पोस्ट में ट्विटर की मानव संसाधन प्रमुख जेनिफर क्रिस्टी ने कहा, “हम विश्व स्तर पर सभी कर्मचारियों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं.” क्रिस्टी ने कहा, “हमारा लक्ष्य कोरोना वायरस (कोविड-19) को हमारे लिए और आसपास की दुनिया में फैलने की आशंका को कम करना है.” Also Read - कोरोना की वैक्सीन से बांझपन और नपुंषकता का है खतरा? जानें क्या है वायरल दावे की सच्चाई

उन्होंने कहा कि दक्षिण कोरिया, हांगकांग और जापान में कार्यरत कर्मियों को घर से काम करना अनिवार्य होगा. कोरोना वायरस के प्रकोप से चीन के बाद विश्व में सबसे ज्यादा प्रभावित दक्षिण कोरिया में संक्रमित लोगों की संख्या करीब पांच हजार और मृतकों की कुल संख्या 28 तक पहुंच गई है. संक्रमण के आधे से ज्यादा मामले शिंचेओंजी चर्च ऑफ जीसस से जुड़े लोगों में पाए गए हैं. Also Read - Coronavirus Cases In India: 1 दिन में 42 हजार से अधिक लोग हुए कोरोना संक्रमण का शिकार, 1,167 लोगों की हुई मौत

जापान सरकार ने देशभर में सकूल बंद रखने के आदेश देने के साथ ही लोगों को घर से काम करने को कहा है. हांगकांग में एक महीने के लिए घर से काम करने का आदेश मिलने के बाद अधिकांश प्रशासनिक कर्मचारी सोमवार से काम पर लौट आए. हांगकांग में संक्रमण के 100 मामले दर्ज किए गए हैं. ट्विटर पिछले सप्ताह “गैर महत्वपूर्ण” व्यापार यात्रा और आयोजनों को निलंबित करने की घोषणा कर चुका है.

(इनपुट भाषा)