नई दिल्ली: विदेश सचिव हर्ष वर्धन शृंगला ने रविवार को कहा कि भारत और अमेरिका के लोगों के बीच विचारों का आदान प्रदान दोनों महान राष्ट्रों के बीच बढ़ते संबंधों का प्रेरणास्रोत रहा है. नव नियुक्त विदेश सचिव ने यह भी कहा कि भारत-अमेरिका संबंधों में मजबूती और लचीलापन लोगों में आपसी जुड़ाव के मजबूत होने से आता है. प्रतिष्ठित फुलब्राइट छात्रवृति की भारत में 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित एक समारोह में शृंगला ने अपने विचार रखे. Also Read - चीन से मुकाबले के लिए भारत से मजबूत संबंध चाह रहा अमेरिका, प्रभावशाली सांसदों ने पेश किया विधेयक

अमेरिकी राजनयिक केनेथ जस्टर की उपस्थिति में उन्होंने कहा, “भारत-अमेरिका संबंधों में मजबूती और लचीलापन दोनों देशों के लोगों के बीच जुड़ाव से उत्पन्न होता है. हमारे नागरिकों में लोकतंत्र, विविधता, रचनात्मकता और उद्यमिता के साझा मूल्य समाहित हैं. यह विशेषताएं दोनों महान राष्ट्रों को परिभाषित करती हैं.” Also Read - रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जताई अमेरिका से उम्मीद, कहा- दोनों देशों की रणनीतिक साझेदारी अभी और बढ़ेगी

लंदन: चाकूबाजी की घटना में कई घायल, पुलिस ने ‘आतंकी’ हमलावर को मार गिराया Also Read - America's defence minister mattis calls Parrikar, says India-US ties need to grow | अमेरिका के नए रक्षामंत्री मैटिस ने मनोहर पर्रिकर को किया फोन, इन बिंदुओं पर हुई चर्चा

शृंगला ने कहा कि भारत और अमेरिका के बीच सहज साझेदारी उन लोगों के लिए “विश्वास का आधार” रहा है, जिन्होंने इन संबंधों को प्रगाढ़ करने के लिए आवश्यक बल प्रदान किया है.