पेरिस: अपनी बिंदास लाइफ स्‍टाइल के लिए ख्‍यात रहे फ्रांस के पूर्व प्रेसिडेंट निकोलस सरकोजी को पुलिस ने एक गंभीर आरोप के चलते हिरासत में लिया है और पूछताछ जारी है्. पूर्व राष्ट्रपति सरकोजी पर साल 2007 में राष्ट्रपति चुनाव अभियान में लीबिया के पूर्व तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी से धन लेने के आरोप है. पूर्व राष्ट्रपति को मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने से पहले पुलिस की हिरासत में 48 घंटे तक रहना पड़ सकता है. दैनिक ले मोंडे की रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि 63 साल के सरकोजी को नानटेरे पुलिस स्टेशन में तलब किया गया और 2007 राष्ट्रपति चुनाव अभियान में धन मिलने के मामले की अनियमितता को लेकर पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है. सरकोजी ने यह चुनाव जीता था, जिसमें गद्दाफी से 5 करोड़ यूरो लेने का आरोप लगा है. Also Read - Court Fixes allegation of accepted money from Libya on Ex-French president Nicolas Sarkozy | पूर्व फ्रांसीसी प्रेसिडेंट सरकोजी के खिलाफ मुअम्मर गद्दाफी से अवैध तरीके से पैसा लेने का आरोप तय

पनामा और स्विस बैंकों के जरिए लिया पैसा

फ्रांस का कानून उम्मीदवार को 6300 पाउंड से ज्यादा नगदी लेने की इजाजत नहीं देता, लेकिन कहा जा रहा है कि उस चुनाव में पनामा व स्विट्जलैंड के बैंकों के माध्यम से काफी धन दिया गया. रिपोर्ट के अनुसार, पेरिस में सार्वजनिक हुए एक दस्तावेज से पता चला है कि फ्रांस के नेता और लीबिया के पूर्व तानाशाह ने एक अवैध वित्तीय सौदा किया था.

अरबी में है 5 करोड़ यूरो लेने का सबूत

अरबी में लिखे और साल 2006 में गद्दाफी के खुफिया प्रमुख मुसा कुसा द्वारा हस्ताक्षरित इस दस्तावेज में ‘सरकोजी के अभियान को समर्थन देने के लिए लगभग 5 करोड़ यूरो के बराबर धन देने के बारे में सैद्धांतिक समझौता किया गया था.’

लंदन में सरकोजी के सहयोगी की गिरफ्तारी

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, इस मामले में कई हफ्ते पहले सरकोजी के पूर्व सहयोगी अलेक्जेंद्र जोहरी को लंदन में गिरफ्तार किया गया था और बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया था. सरकोजी के पूर्व मंत्री और करीबी सहयोगी ब्रिस होर्टेफ्यूक्स से भी मंगलवार को पूछताछ की गई.

2013 में जांच,  लेकिन अब हो रही पूछताछ

इस मामले में जांच अप्रैल 2013 को शुरू हुई थी, लेकिन यह पहली बार है कि सरकोजी से पूछताछ की जा रही है. सरकोजी पर आरोप लगे हैं कि उनके चुनाव अभियान में लीबिया के शासक गद्दाफी ने अवैध धन लगाया था. उन्होंने हालांकि इन आरोपों से इनकार किया है. (इनपुट एजेंसी)