लाहौर: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने सजायाफ्ता पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को जेल से अस्पताल में भर्ती कराने का शनिवार को आदेश दिया. कुछ दिन पहले ही विशेष मेडिकल बोर्ड इस नतीजे पर पहुंचा था कि पूर्व प्रधानमंत्री को हृदय संबंधित जटिलताएं हो रही हैं. शरीफ (69) अल-अजीजिया स्टील मिल्स भ्रष्टाचार मामले में लाहौर की कोट लखपत जेल में सात साल कैद की सजा काट रहे हैं.

पाकिस्तान: डॉक्टर ने कहा- नवाज शरीफ की हालत बेहद गंभीर

एकमात्र स्रोत मीडिया
शरीफ के स्वास्थ्य की निगरानी के लिये गठित विशेष मेडिकल बोर्ड की सिफारिश के बाद यह आदेश सामने आया है. बोर्ड ने सिफारिश की थी कि शरीफ को अस्पताल में भर्ती कर देना चाहिए. बोर्ड ने इस सप्ताह जेल में पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य की जांच की थी. जेल प्रशासन को दिए निर्देश में पंजाब सरकार ने कहा कि नवाज शरीफ कई बीमारियों से ग्रसित रहे हैं और विदेश में कई बार दिल की बीमारी से संबंधित उपचार करा चुके हैं. उनके इसी इतिहास को देखते हुए यह सलाह दी गई है कि उन्हें आगे की चिकित्सकीय जांच/प्रबंधन के लिये अस्पताल में भर्ती कराया जाए जहां उनकी बेहतर देखभाल हो सकेगी. इससे पहले शरीफ की बेटी मरियम ने पिता की हालत पर चिंता व्यक्त करते हुए ट्वीट किया था-‘मेरे पिता के साथ क्या हो रहा है मेरे पास यह जानने का एकमात्र स्रोत मीडिया है’. भाई शहबाज शरीफ ने सरकार से तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके नवाज शरीफ को सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करने की अपील की.

सरकार को कोई आपत्ति नहीं
निर्देश दिया गया है कि अस्पताल भेजने के क्रम में और इलाज के लिए वहां भर्ती रहने के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए. पंजाब के सूचना मंत्री फयाजुल हसन चौहान ने कहा कि शरीफ को अस्पताल में भर्ती करा दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि छह सदस्यीय चिकित्सकीय बोर्ड की रिपोर्ट को देखते हुए शरीफ को अस्पताल में भर्ती कराने का फैसला किया गया है. मंत्री ने कहा, ‘‘सरकार ने जेल में शरीफ को बेहद स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई और चूंकि चिकित्सकीय बोर्ड ने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की सलाह दी इसलिए सरकार को इस पर कोई आपत्ति नहीं है.’’ (इनपुट एजेंसी)

पाक के नापाक बोल, कहा- अपनी समस्याओं के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराना बंद करे भारत!