इस्लामाबाद: दुर्लभ बीमारी से पीड़ित पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ की सेहत थोड़ी संभली और उन्होंने तुरंत भारत को आंख दिखानी शुरू कर दी. कारगिल में पाकिस्तान की करारी हार के बावजूद उन्होंने उलटे भारत को ही चेतावनी दी है कि वह ‘कागरिल को न भूले और जंग के मैदान में पाकिस्तान, भारत को सबक सिखा देगा.’ पाकिस्तान में राजद्रोह के मुकदमे का सामना कर रहे पूर्व सैन्य शासक बीमारी के नाम पर पाकिस्तानी अदालत में पेशी से बचते रहे हैं और दुबई में रहते हैं. हाल में उनकी तबियत में थोड़ा सुधार हुआ जिसके बाद उनकी पार्टी आल पाकिस्तान मुस्लिम लीग की तरफ से कहा गया कि सेवानिवृत्त जनरल फिर से राजनीति में लौटने जा रहे हैं.

इमरान खान को बड़ा झटका, FATF की ‘ग्रे लिस्ट’ में ही रहेगा पाकिस्तान का नाम!

राजनीति में लौटने की इस कवायद के तहत मुशर्रफ ने वीडियो लिंक के जरिए पाकिस्तान में अपनी पार्टी के स्थापना दिवस समारोह को संबोधित किया और तुरंत सुर्खियां बटोरने के लिए भारत पर हमलावर हो गए. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि भारत की तरफ से लगातार पाकिस्तान को धमकियां दी जा रही हैं जबकि पाकिस्तान लगातार शांति की पहल करता रहा है.

मुशर्रफ ने भारत को संबोधित करते हुए कहा, “लगता है भारतीय सेना कारगिल युद्ध को भूल गई है. इसे मत भूलिए कि कैसे आप (भारत) तब मदद के लिए भागकर अमेरिकी राष्ट्रपति के पास गए थे.” पूर्व सैन्य तानाशाह ने कहा, “पाकिस्तानी कौम और पाकिस्तानी सेना अपने खून के आखिरी कतरे तक लड़ेगी. जंग के मैदान में भारत को पाकिस्तान सबक सिखा देगा.” उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोगों के लिए उनका समर्थन हमेशा की तरह जारी रहेगा.

इस देश में एक नहीं बल्कि 35 उम्मीदवार राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल

(इनपुट आईएएनएस)