Also Read - कंगना रनौत को पता है फैशन सीक्रेट, बोलीं- गांव की जोकर थी, लोग हंसते थे, फिर....

Also Read - धमाके की आवाज़ों से दहशत में आया पेरिस, अफरातफरी मची, जानें आखिर हुआ क्या

पेरिस: फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा होलांद, पूर्व राष्ट्रपति निकोला सरकोजी और जैक शिराक तथा फ्रांसीसी मंत्रिमंडल के सदस्यों की अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने जासूसी की थी। यह खुलासा विकिलीक्स ने बुधवार को प्रेस में बयान जारी कर किया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, विकिलीक्स ने मंगलवार को पिछले 10 सालों में फ्रांसीसी सरकार के शीर्ष अधिकारियों से संबंधित एनएसए की शीर्ष खुफिया रपट और तकनीकी दस्तावेजों का पुलिंदा ‘एस्पायोनेज एलीसी’ को जारी करने का काम शुरू किया। ये दस्तावेज फ्रांस में लगातार बनीं सरकारों के उच्चस्तरीय अधिकारियों की बातचीत रिकार्ड करने से संबंधित हैं। यह भी पढ़े:इराक : कार बम विस्फोट में 14 मरे Also Read - पेरिस: शार्ली एब्दो के पूर्व कार्यालय के पास चाकू से हमला, चार लोग घायल

बयान के मुताबिक, “दस्तावेज में एलीसी से जुड़े विभिन्न अधिकारियों के फोन नंबर तथा राष्ट्रपति के फोन नंबर से जुड़े ब्यौरे की चुनिंदा जानकारियां भी शामिल हैं।” विकिलीक्स के अनुसार, प्रकाशित होने वाले दस्तावेजों में फ्रांसीसी अधिकारियों के बीच अंतर्राष्ट्रीय समुदाय और फ्रांस के सामने मौजूद अत्यंत महत्वपूर्ण मुद्दों पर हुई चर्चाएं शामिल हैं, जिसमें फ्रांस की जासूसी को लेकर फ्रांस और अमेरिकी सरकारों के बीच एक विवाद पर हुई चर्चा भी शामिल है।

विकिलीक्स के संस्थापक जुलियन असांज ने कहा, “फ्रांसीसी जनता को यह जानने का अधिकार है कि उनकी निर्वाचित सरकार की उनके तथाकथित मित्र देश की तरफ से जासूसी कराई जा रही थी। फ्रांसीसी नेता आने वाले समय में और अधिक जानकारियों की उम्मीद कर सकते हैं।” अमेरिकी जासूसी की खबर ऐसे समय में आई हैं, जब जर्मनी ने इसकी चांसलर एंजेला मर्केल तथा अन्य अधिकारियों की अमेरिका द्वारा की गई कथित फोन टैपिंग की जांच शुरू कर दी है।