बीजिंग: भारत और चीन के बीच बीते दिनों गलवान घाटी में हिंसक संघर्ष देखने को मिला था. इस दौरान 20 भारतीय जवान वीरगति को प्राप्त हुए थे. हालांकि इस दौरान भारतीय सेना द्वारा हुई क्षतियों को स्वीकार किया गया था, लेकिन चीनी सेना द्वारा किसी तरह के बयान या आंकड़े जारी नहीं किए गए. लेकिन पहली बार अब चीन ने यह स्वीकार कर लिया है कि गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प में चीनी सैनिक भी मारे गए थे.Also Read - Kerala Rain Updates: केरल में भारी बारिश से छह लोगों की मौत, एक दर्जन लोग लापता; बचाव अभियान में उतरीं तीनों सेनाएं

चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स के एडिटर इन चीफ हू झिजिन ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के बयान को ट्वीट करते हुए लिखा कि जहां तक मुझे जानकारी है गलवान घाटी की झड़प में चीन सेना में मरने वाले सैनिकों की संख्या भारतीय सैनिकों में मरने वाले जवानों की संख्या 20 से कम थी. यही नहीं इस दौरान भारतीय सेना ने एक भी चीनी सैनिक को बंदी नहीं बनाया, लेकिन चीनी सैनिकों ने भारतीय सेना के कई जवानों को बंदी बनाया था. Also Read - कश्मीर: सुरक्षाबलों का एक्शन जारी, नागरिकों की हत्या करने वाले दो आतंकी मारे गए

बता दें कि ग्लोबल टाइम्स चीन की कम्युनिष्ट पार्टी का माउथपीस है. सरकारी बयानों को ग्लोबल टाइम्स के माध्यम से ही जारी किया जाता है. यही नहीं ग्लोबल टाइम्स आए दिन भारत के खिलाफ आग भी उगलता रहता है. ऐसे में पहली बार चीन द्वारा यह स्वीकार किया गया है कि चीनी सैनिकों की भी गलवान घाटी की हिंसक झड़प में मौत हुई थी. Also Read - PM मोदी ने विजयदशमी के मौके पर क्यों कहा- हम दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य शक्ति बनेंगे