Coronavirus Updates: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि पिछले सप्ताह दुनिया भर में कोरोना वायरस के करीब 40 लाख मामले दर्ज किए गए जो नए मामलों को देखते हुए दो महीने से अधिक समय में पहली बड़ी गिरावट है. हाल के सप्ताह में कोविड-19 के 44 लाख मामले दर्ज किए गए हैं. डब्ल्यूएचओ ने अपने साप्ताहिक आंकड़ों में बताया कि पिछले सप्ताह की तुलना में दुनिया के सभी क्षेत्रों में मामलों में कमी देखी गई है. वहीं, दुनिया भर में मौतों की संख्या में भी कमी आई है और यह लगभग 62,000 दर्ज की गई. सबसे ज्यादा कमी दक्षिण पूर्वी एशिया में आई है, जबकि मौतों में अफ्रीका में सात प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.Also Read - COVID-19 Update: कोरोना के 30,773 नए केस आज आए, केरल के 19,325 मामले शामिल, एक्‍ट‍िव मरीजों की संख्‍या घटी

सबसे ज्यादा नए मामले अमेरिका, ब्रिटेन, भारत, ईरान और तुर्की में आए तथा वायरस का बेहद संक्रामक स्वरूप ‘डेल्टा’ अब 180 देशों में पहुंच गया है. डब्ल्यूएचओ ने यह भी कहा कि वयस्कों की तुलना में कोविड 19 से बच्चे एवं किशोर कम प्रभावित हैं. उसने कहा कि 24 साल से कम उम्र के लोगों की वायरस के कारण मृत्यु का प्रतिशत करीब 0.5 प्रतिशत है. Also Read - Rajasthan: पिता ने 4 बेटियों को पहले जहर खिलाया, पानी के टैंक में डुबोकर मारा, फिर सुसाइड की कोशिश की

इस बीच फ्रांस में बुधवार तक स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड रोधी टीका नहीं लगाया गया तो वे काम पर नहीं जा सकेंगे, क्योंकि देश में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगवाना अनिवार्य है. देश में करीब तीन लाख स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण नहीं हुआ है जिससे अस्पतालों को भय है कि उनके यहां कर्मियों की कमी हो सकती है. Also Read - इस राज्य में टीके की पहली खुराक ले चुके लोग दूसरी खुराक लेने के लिए नहीं आ रहे, अधिकारी परेशान

वहीं, कंबोडिया शुक्रवार से छह से 11 साल की उम्र के बच्चों का कोविड रोधी टीकाकरण शुरू करेगा. प्रधानमंत्री हुन सेन ने बुधवार को कहा कि यह कदम इसलिए उठाया जा रहा है ताकि बच्चे सुरक्षित तरीके से स्कूल जाना शुरू कर सकें जो कोरोना वायरस महामारी की वजह से लंबे समय से बंद हैं.

उन्होंने एक ऑडियो संदेश में कहा कि उन्हें उम्मीद है कि कार्यक्रम के तहत करीब 18 लाख बच्चों को टीका लगाया जाएगा. इस कार्यक्रम में चीन निर्मित सिनोवैक टीके का इस्तेमाल किया जाएगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि वह तीन से पांच वर्ष के बच्चों का भी जल्द टीकाकरण कराने पर विचार कर रहे हैं.

(इनपुट: भाषा)