काठमांडू: नेपाल में मूसलाधार बारिश के बाद आई बाढ़ से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई और करीब 50 लोग लापता हैं. इस वजह से कई पुल भी क्षतिग्रस्त हो गए हैं. पिछले 48 घंटे में भारी बारिश से सबसे बुरी तरह प्रभावित मध्य नेपाल के सिंधुपालचोक में मेलम्ची नदी में बाढ़ आ गई. सभी सात लोगों की मौत यहीं हुई है. मंगलवार रात मृतकों के शव बरामद किए गए. अधिकारियों ने बताया कि करीब 50 लोग लापता हैं, जिनमें से ज्यादातर मेलम्ची पेयजल परियोजना में काम करने वाले श्रमिक हैं.Also Read - August Me Kaisa Rahega Delhi Ka Muasam: जुलाई में रिकॉर्ड बारिश के बाद इस महीने कैसा रहेगा दिल्ली का मौसम, जानिए

स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्री शेर बहादुर तमांग ने बताया, ‘‘मेलम्ची और इंद्रावती नदियों में आई बाढ़ में 50 से ज़्यादा लोग लापता हैं. बाढ़ ने मेलम्ची पेय जल आपूर्ति परियोजना टिम्बू बाजार, चनाउत बाजार, तालामारंग बाजार और मेलम्ची बाजार में बांध को भी नुकसान पहुंचाया है.’ Also Read - मध्य प्रदेश के इन 22 जिलों के लिए बहुत भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी, जानें अपने शहर का हाल

भारी बारिश से न केवल लोगों की जान गई है बल्कि सिंधुपालचोक में दो कंक्रीट पुल और पांच से छह सस्पेंशन पुल गिर गए हैं. कृषि भूमि और मत्स्य पालन स्थल डूब गए हैं. वहीं हेलाम्बु क़स्बे में पुलिस चौकी (सशस्त्र पुलिस बल शिविर) और मेलम्ची में पेयजल परियोजना स्थल बाढ़ जैसी स्थिति के कारण पहुँच से बाहर हैं. Also Read - दिल्ली में IIT फ्लाईओवर के नीचे सड़क धंसने से बनी खाई, कांग्रेस बोली- जमीन फाड़कर निकली 300 यूनिट फ्री बिजली

मेलम्ची नदी के किनारे के गांवों में क़रीब 300 झोपड़ियां बह गईं. वहीं लामजुंग ज़िले में क़रीब 15 घर बह गए. अधिकारियों ने बताया कि निचले इलाक़े में क़रीब 200 घरों पर ख़तरा है. सिंधुपालचोक के मुख्य जिला अधिकारी अरुण पोखारेल ने बताया कि नेपाल पुलिस सेना और सशस्त्र पुलिस बल द्वारा बचाव एवं राहत अभियान जारी है.