वाशिंगटन| हिलेरी क्लिंटन ने अमेरिकी राष्ट्रपति पद के चुनाव में डोनाल्ड ट्रम्प से हारने के बाद चुनाव की रात को तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा से माफी मांगी थी।

वाशिंगटन पोस्ट ने डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार के 2016 के नाकाम चुनाव अभियान पर लिखी गयी किताब ‘शैटर्ड’ की समीक्षा की है जिसके अनुसार उन्होंने ट्रंप से मिली अप्रत्याशित चुनावी हार के बाद ओबामा से फोन पर कहा था, ‘‘मिस्टर प्रेजीडेंट, मैं माफी मांगती हूं’’ किताब ‘शैटर्ड: इनसाइट हिलेरी क्लिंटन्स डूम्ड कैंपेन’ में खुलासा किया गया कि किस तरह व्हाइट हाउस के कई फोन कॉल के बाद हिलेरी ने हार स्वीकार कर ली।

फ्लोरिडा में डेमोक्रेटिक पार्टी के मतों की गिनती करने वाले स्टीव शाले ने कहा, ‘‘आपके वोट कम पड़ने जा रहे हैं।’’ पत्रकार जोनाथन एलेन और एमी पारनेस ने अपनी किताब में लिखा कि शाले के साथ बातचीत के साथ हिलेरी के राष्ट्रपति पद की दौड़ का अंत होता दिखने लगा।

किताब में लिखा गया कि चुनाव की रात को 11 बजे के बाद व्हाइट हाउस के फोन कॉल में हिलेरी से हार स्वीकार करने की अपील की गई। हालांकि तब कई राज्यों में दोनों पक्ष पास पास चल रहे थे।

राष्ट्रपति ओबामा को लगा कि हिलेरी के अभियान का अंत हो गया।

सबसे पहले व्हाइट हाउस के राजनीतिक प्रमुख डेविड सिमास ने हिलेरी के अभियान प्रबंधक रॉबी मुक को फोन किया।

उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रपति को नहीं लगता कि इसमें देरी करना बुद्धिमानी होगी।’’ लेकिन जब हिलेरी देरी करती रहीं तो खुद ओबामा ने उन्हें फोन किया और कहा, ‘‘आपको हार मान लेनी चाहिए।’’ इसके बाद हिलेरी ने ट्रम्प को फोन कर कहा, ‘‘डोनाल्ड आपको बधाई हो।’’ कुछ क्षण बाद ओबामा ने हिलेरी को सांत्वना देने के लिए दोबारा फोन कॉल किया और तब हिलेरी ने उनसे माफी मांगी क्योंकि ओबामा की विरासत और राष्ट्रपति बनने के उनके सपने टूट चुके थे।